यूक्रेन से लौटे बेटे को लगाया गले, मां-बाप ने किया शुकराणा

राजनरूला,अबोहर:यूक्रेनकेखार्कीवसेसुरक्षितवतनलौटेभगवानपुरानिवासीहरजिदरसिंहकेघरलौटनेपरअभिभावकोंकीजानमेंजानआईहै।अपनेलालकोआंखोंकेसामनेसहीसलामतदेखस्वजनभावुकहोगएऔरउन्हेंगलेलगालियाऔरमां-बापकीआंखोंसेआंसूटपकगए।हालांकिअबभीकईछात्रयूक्रेनमेंफंसेहुएहैं,जिनकीवापसीकेलिएउनकेस्वजनोंनेदुआकी।

यूक्रेनसेलौटेहरजिदरसिंहकेपितागुरचरणसिंहनेबतायाहरजिदरसिंहवीरवारसुबहदिल्लीपहुंचा,जहांसेटैक्सीकेमाध्यमसेअबोहररातकोपहुंचा।यूक्रेनकेहालातदेखवहकाफीचितितथे।हरजिदरसिंहकीघरवापसीसेपूरापरिवारखुशहै।हरजिदरसिंहनेबतायाकिवहअपनेफ्लैटमेंसोएहुएथेकिअचानक24फरवरीसुबहबमबारीकीआवाजेंआनेलगी,जिससेवहकाफीघबरागए।तीनचारदिनउन्होंनेबड़ीहीमुश्किलसेनिकाले।इसदौरानएडवाजरीजारीहुईकिमेट्रोंस्टेशनपहुंचें,जिसकेबादवहटैक्सीकेजरिएमेट्रोस्टेशनपहुंचे।

मेट्रोस्टेशनपरलोगोंनेखानेपीनेकाइंतजामकियावइसकेबादवहट्रेनकेमाध्यमसेपौलेंडपहुंचेतोकुछराहतमिली।हरजिदरसिंहनेकहाकिखार्कीवसमेतयूक्रेनमेंहालातकाफीखराबहैंवभारीजानमालकानुकसानहोरहाहै।उन्होंनेबतायाकिपैलेंडमेंभारतसरकारकीतरफसेफ्लाइटकाइंतजामकियागयावउन्हेंदिल्लीतकनिशुल्कलायागया,यहांभारतसरकारकेमंत्रीभीपहुंचेहुएहैं।हरजिदरसिंहनेबतायाकिदिल्लीमेंदेखनेमेंआयाकईराज्योंकीतरफसेबच्चोंकोलानेकाइंतजामकियागयाथाऔरवहांलोगअपनेराज्योंकेबच्चोंकोआवाजेंलगाकरबुलारहेथे,लेकिनयहांपंजाबकीतरफसेऐसाकोईइंतजामनहींदेखागया।

यूक्रेनसेलौटेहरजिदरसिंहकेमातापिताबेटेकीवापसीसेबहुतखुशहैं।पितागुरचरणसिंहवमाताचरणजीतकौरनेभावुकहोतेहुएकिवहबेटेकोलेकरकाफीचितितथे।अपनेलालकोसामनेदेखखुशीसेउनकीआंखेंभरआई।उन्होंनेसशुकलवापसीकेलिएपरमात्माकाशुक्राणाकियावभारतसरकारसेअपीलकीकिअभीजोछात्रवहांफंसेहुएहैंउनकीवापसीकेप्रयासतेजकिएजानेचाहिए।क्योंकिवहांफंसेबच्चेअभीबड़ीमुश्किलमेंहैऔरउनकेअभिभावकभीचितामेंहै।गुरचरणसिंहनेकहाकिजैसेहीवहांएकभारतीययुवककीमौतकीखबरसुनी।उसकेबादतोउनकीचिताकाफीबढ़गई।एटीएमबंदकईछात्रोंकेपासनहींहैपैसे

हरजिदरसिंहनेबतायाकिगनीमतयहरहीकिउसकेपासपैसेथेवउसनेदोदिनपहलेहीपैसेबैंकसेनिकलवाएंथे,लेकिनकईबच्चोंकेपासपैसेखत्महोगए,जबकिएटीएमबंदहोगए।छहसालनहीं,युद्धकेबादछहदिनकाटनेहुएमुश्किल

माताचरणजीतकौरनेकहाकिहरजिदरकोयूक्रेनगएछहसालकासमयहोगयाथा,लेकिनउन्हेंइतनामहसूसनहींहुआवयुद्धकीखबरसुननेकेबादउनकेलिएछहदिनकाटनेमुश्किलहोगए।आजयूक्रेनसेअबोहरलौटसकताहैपुनीत

हरजिदरसिंहनेबतायाकिअबोहरकायुवकपुनीतबार्डरपारकरसुरक्षितपहुंचचुकाहैवशनिवारकोवहभीभारतपहुंचजाएगा।हरजिदरसिंहजैसेहीअपनेघरपहुंचातोपूरेमोहल्लेकेलोगोंनेउनकास्वागतकियावमुंहमीठाकरवाया।