विश्व में बालिकाओं की आवाज को सशक्त बनाया जाए : आरके मूम

जागरणसंवाददाता,नवांशहर:केसीपालीटेक्निककालेजमेंअंतरराष्ट्रीयबालिकादिवसपरप्रिसीपलआरकेमूमकीदेखरेखमेंएकसेमिनारकरवायागया।जिसमेंकन्याओंकीआवाजकोसशक्तबनानेसंबंधीविचाररखेगए।सबसेपहलेमनदीपकौरनेबतायाकिपुत्रअगरघरकीछतहै,तोलड़कियांभीघरकीनींवहै।नींवमजबूतहोगी,तभीउसपरछतटिकेगी।इसकेबादछात्रारेखारानी,स्तुति,दविदरकौरनेमंचपरकविताएंपेशकीतथाबतायाकिसमाजकोबालिकाओंकीक्षमताओंऔरशक्तियोंकोपहचानकरउनकेलिएदिलखोलकरअवसरमुहैयाकरवानेचाहिए।इसदिवसकोमनानेकाउद्देश्यपूरेविश्वमेंबालिकाओंकीआवाजकोसशक्तकरनाहै।महिलाओंकोपुरुषोंसेकिसीभीप्रकारसेकमनहींआंकनाचाहिए।प्रिसीपलआरकेमूमनेबतायाकिभारतमेंबालिकाओंकोकन्या-पूजनजैसेधार्मिकअवसरोंपरपूजाजाताहै,लेकिनजबखुदकेघरबालिकाजन्मलेतीहैतोमाहौलमातममेंबदलजाताहै।भारतमेंइससमयपंजाब,दिल्ली,हरियाणाऔरराजस्थानकेहालातइतनेखराबहैंकियहांबच्चियोंकोअभिशापतकमानाजानेलगाहै।लड़कियोंकोघरसेबाहरनहींनिकलनेदियाजाता।लड़कियोंकेबिनासमाजकुछभीनहींहै।सरकारलड़कियोंकेलिएमौकेतोपैदाकरतीहै,परंतुसमाजअपनीपुरानीसोचत्यागनहींपारहा।इसमौकेपरपरविदरकुमार,नरिदरसोनी,मनदीपकौर,नमृता,मधु,जतिदरकौर,जसदीपकौर,दलजीतकौरआदिहाजिररहे।अंतरराष्ट्रीयबालड़ीदिवसपरस्कूलमेंभाषणऔरपेंटिंगमुकाबलेकरवाए

जागरणसंवाददाता,नवांशहर:जिलाकानूनीसेवाएंअथारिटीशहीदभगतसिंहनगरकीजिलाऔरसेशनजज-कम-चेयरमैनजिलाकानूनीसेवाएंअथारिटीकंवलजीतसिंहबाजवाकेनेतृत्वमेंसरकारीकन्यासीनियरसेकेंडरीस्कूलराहोंमेंभाषणऔरपेंटिगमुकाबलेकरवाएगए।

पेंटिगमुकाबलेमेंपरनीतकौरकोपहला,कशिशदड़ोचकोदूसराऔरहरमनदीपकोतीसरास्थानप्राप्तहुआ।इसीतरहभाषणमुकाबलेमेंजसलीननेपहला,साक्षीशर्मानेदूसराऔरनवजिदरकौरनेतीसरास्थानहासिलकिया।इसमौकेपरजिलाऔरसेशनजजकंवलजीतसिंहबाजवानेविजेताछात्राओंकोयादगारीचिन्हदेकरसम्मानितकिया।उन्होंनेसमूहछात्राओंकोइसदिनकेसंबंधमेंबधाईदेतेहुएउनकेअधिकारोंकेबारेमेंजागरूककियाऔरहेल्पलाइननंबर1968केबारेमेंविस्तारपूर्वकजानकारीदी।इसमौकेपरसीजेएम-कम-सचिवजिलाकानूनीसेवाएंअथारिटीहरप्रीतकौर,पैरालीगलवालंटियरबलदेवभारती,सागरघई,निर्मलसिंह,चाइल्डवैलफेयरकमेटीकेचेयरमैनसोनिया,प्रिसीपलबलजिदरसिंहऔरसमूहस्कूलस्टाफउपस्थितरहे।