वैज्ञानिक विधि से खेती कर आर्थिकी मजबूत करें किसान

संवादसहयोगी,रानीखेत:पर्वतीयखेतीकोबढ़ावादेनेकेलिएकिसानोंकोवैज्ञानिकतकनीकसेरूबरूकरायागया।विशेषज्ञोंनेबेहतरउत्पादनकेगुरबतातेहुएखेतीकोआजीविकासेजोड़नेकाआह्वानकिया।प्रोत्साहितकरनेकेलिएबेहतरउत्पादनकरनेवालेकिसानसम्मानितभीकिएगए।

ताड़ीखेतब्लॉकसेसटेतिवाड़ीगावमेंहुएकार्यक्रमकाशुभारंभजिपंसदस्यपीसीगोरखानेकिया।उन्होंनेकहाकिकिसानवैज्ञानिकविधिसेखेतीकरबेहतरउत्पादनकरनेपरजोरदिया।इंटरकॉपोरेशनसंस्थाकेधीरेंद्रतिवारीनेकहाकिसंस्थाकामुख्यउद्देश्यग्रामीणक्षेत्रकेकाश्तकारोंकीआमदनीकोबढ़ानाहै।सीमातिवारीनेप्रशिक्षणकालाभलेकरखेतीकोआजीविकाकामुख्यसाधनबनानेवालेकिसानोंकीजानकारीदी।विशेषज्ञोंनेरविफसलमेंलगनेवालेरोगोंवउनकेनिदानकेउपायबताए।

गिरताजलस्तरचिंताकाविषय

जलउत्पादकतापरियोजना(वाप्रो)कीसमन्वयकच्योत्सनाभट्टवतकनीकीविशेषज्ञसावंतनेगीनेप्राकृतिकजलस्रोतोंकेघटतेस्तरपरचिंताजताई।कहाकिसमयरहतेसंरक्षितनकिएगएतोपरिणामगंभीरहोंगे।इसमौकेपरगीताआर्या,दलीपसिंहबोहरा,रमेशजैड़ा,नवीनपंत,खीमसिंहरावत,गीताजोशी,सवितापंत,आनंदीदेवी,राधादेवी,खुशालसिंहभंडारी,बचेसिंहमेहरा,कीर्तिबल्लभ,नवीनचंद्रआदि।