वार्ड 47 में जिला मुख्यालय, बावजूद पानी के लिए हाहाकार

दरभंगा।नगरनिगमकेवार्ड47मेंजिलामुख्यालयहै।बावजूदलोगजलसंकटसेत्रस्तहैं।घरोंकेचापाकलठपहोगएहैं।मोटरसेपानीनहीचढ़पारहाहै।सर्वत्रहाहाकारमचाहै।निगमकेटैंकरसेपानीकीआपूर्तिकीजारहीहै।लेकिन,इससेलोगोंकीसिर्फप्यासहीबुझपारहीहै।इसकेलिएभीघंटोंइंतजारकरनापड़ताहै।वार्डकीआबादीलगभग12हजारसेअधिकहै।यहांकेएमटैंक,बलभद्रपुर,गुदरीबाजार,अफसरकॉलोनी,बापूनगरकॉलोनीआदिमोहल्लेहैं।इतनीबड़ीआबादीकीजरूरतोंकोपूराकरनेकेलिएइंडियामार्काके11चापाकललगेहुएहैं।इसमेंएकखराबहै।पूर्ववार्डपार्षदववर्तमानपार्षदकेपुत्रआशुतोषकुमारकाकहनाहैकिजलसंकटकीमुख्यवजहनगरनिगमएवंपीएचईडीकीलापरवाहीहै।पाइपलगानेकालगभग60फीसदकार्यपूरानहींकियागया।9मोहल्लेमेंतोपाइपलाइनकीशुरुआतभीनहींकीगईहै।जहांपाइपलाइनकाकामहुआभीहैवहांभीकनेक्शननहींदियागयाहै।यहकामहोगयाहोतातोलोगोंकोजलसंकटकासामनानहींकरनापड़ता।स्थितियहहैकिवार्डकेलगभग60फीसदलोगटैंकरकेपानीपरनिर्भरहै।आर्थिकरूपसेकमजोरलोगोंकोबहुतज्यादापरेशानीकासामनाकरनापड़रहाहै।स्थानीयलोगोंकीदिनचर्याहीबदलगईहै।दिनभरपानीकेलिएभटकनापड़ताहै।निगमकेटैंकरसेमिलनेवालीपानीसेकिसीतरहप्यासबुझतीहै।

पार्षदकीओरसेटैंकरसेपेयजलकीआपूर्तिकीजारहीहै।लेकिनपानीकेलिएकाफीभटकनापड़रहाहै।भीषणसमस्याहै।टैंकरसेमिलनेवालेपानीसेभीघरकाकामपूरानहींहोपाताहै।समयपरपानीनहींमिलपाताहै।

जलसंकटकेलिएसरकारदोषीहै।जबजानतीहैनगरनिगममेंजंगलराजहैतोस्वयंकमानसंभाले।नहींतोप्रलयजैसाहालहोजाएगा।तालाबोंकीनगरीदरभंगामेंपानीकेलिएयहहालसोचेभीनहींथे।

ऐसासमयतोदेखेहीनहींथे।निगमकेटैंकरसेघरकेसामनेप्यासबुझानेकेलिएपानीमिलजाताहै।इसकेबादभीपरेशानीहै।कईकामनहींहोपाताहै।

जलसंकटकादोषीपीएचईडीहै।विभागतोलगताहैमरगयाहै।पाइपलाइनबिछानेकेबादकनेक्शनकरदियाहोतातोपरेशानीनहींहोती।अभीतोलगताहैप्रलयआगयाहै।

समस्याकीमुख्यवजहपीएचईडीहै।हरघरनलकाजलयोजनाकाकार्यपूराहोगयाहोतातोलोगोंकोपरेशानीनहींहोती।निगमकेटैंकरकेमाध्यमसेपानीकीआपूर्तिकीजारहीहै।लेकिन,इससेसमस्याकासमाधाननहींहोपारहाहै।महापौरकीओरसेभीसार्थकप्रयासनहींकियाजारहाहै।उन्हेंतोपदछोड़देनाचाहिए।जिलाधिकारीकीतत्परतासेकुछराहतहै।नहींतोनिगममेंतोजंगलराजहै।अपनेप्रयाससेसबमर्सिबललगाकरपाइपलाइनलगारहीहूं।

मंजूदेवी,पार्षदवार्ड47