उत्तर प्रदेश के किसानों को अब जल्द मिलेगी फसलों की और बेहतर कीमत, सरकार ने बनाया प्लान

लखनऊ,जेएनएन।उत्तरप्रदेशकेगन्नाकिसानोंकेसाथहीअन्यफसलोंकाउत्पादनकरनेवालेकिसानोंकोजल्दफसलोंकीऔरबेहतरकीमतमिलेगी।प्रदेशसरकारइसकेलिएएकवर्षमें825फार्मरप्रोड्यूसरकंपनी(एफपीओ)स्थापितकरेगी।

योगीआदित्यनाथसरकारनेअपनेदूसरेकार्यकालमेंकिसानोंकीबेहतरीपरभीफोकसकियाहै।योगीआदित्यनाथसरकारकिसानोंकोबड़ीसुविधादेनेजारहीहै।इससेकिसानोंकोउनकीफसलकाबेहतरमूल्यमिलेगाऔरबिचौलियोंकेजालसेमुक्तिमिलसकेगी।सरकारनेइसकेलिएबजटमें354.75करोड़रुपयेकाप्राविधानकियाहै।इसकालाभप्रदेशकेकरीबचारलाखकिसानोंकोहोगा।सरकारअब100दिनमेंप्रदेशकेप्रत्येकविकासखंडमेंविशेषफसलकाचयनकरेगी।योगीआदित्यनाथसरकारअबतोकिसानोंकीआर्थिकस्थितिकोसुधारनेमेंजुटगईहै।

प्रदेशसरकारएकवर्षमेंविकासखंडवार825एफपीओस्थापितकरनेजारहीहै।इसकेलिए354.75करोड़रुपयेबजटकाप्रावधानकियागयाहै।इससेप्रदेशकेचारलाखकिसानोंकोलाभपहुंचेगा।इसकेसाथहीसौदिनोंमेंप्रत्येकविकासखंडमेंविशेषफसलकाचुनावकियाजाएगा।2022-23मेंप्रदेशसरकारविशिष्टएफपीओयोजनाकेतहत825एफपीओस्थापितकरनेजारहीहै।संगठितखेतीकरनेसेकिसानोंकोउनकेउपजकीऔरबेहतरकीमतमिलसकेगी।

एफपीओयानीकिसानउत्पादकसंगठन(किसानउत्पादककंपनी)किसानोंकाएकसमूहहै,जोकृषिउत्पादनकरताहोऔरखेती-किसानीसेजड़ीव्यावसायिकगतिविधियांभीचलाएगा।एफपीओकेमाध्यमसेसामूहिकखेतीकोबढ़ावामिलेगाऔरकिसानोंकोअपनीफसलबेचनेकेलिएबाजारआसानीसेउपलब्धहोगा।एफपीओकेतहतसंगठितरूपसेखेतीकरनेकेलिएसरकारसहायताभीउपलब्धकराएगी,जिससेएकसाथखाद,बीज,दवाइयांऔरकृषिउपकरणखरीदनेमेंआसानहोगी।इसकेअलावाप्रासेसिंगयूनिटऔरस्टोरेजकीव्यवस्थाकीजासकतीहैऔरफसलकीअच्छीकीमतप्राप्तकीजासकतीहै।अगरकिसानअकेलेअपनीफसलकोबेचनेजाताहैतोउसकाफायदाबिचौलियाउठाताहै।एफपीओव्यवस्थामेंबिचौलियेनहींहोंगे,इसलिएकिसानोंकोउनकेउत्पादकीअच्छीकीमतमिलेगी।इससेकिसानोंकीशक्तिभीबढ़ेगी।