उत्तर प्रदेश के एडेड माध्यमिक कॉलेजों में बड़ी संख्या में सांठगांठ से शिक्षकों की हुई नियुक्तियां

प्रयागराज[धर्मेशअवस्थी]।शिक्षकोंकीनियुक्तियांसिर्फसत्यापनमेंहेराफेरीकरकेहीनहींहुईं,बल्किचयनमेंसांठगांठकाखेलखूबफूलाफलाहै।उत्तरप्रदेशकेएडेडमाध्यमिककॉलेजोंमेंऐसेशिक्षकबड़ीसंख्यामेंतैनातहैं,जिनकाअधियाचन(रिक्तपदकाब्योरा)चयनसंस्थाकोसहीसेभेजाहीनहींगया।इतनाहीनहींअफसरोंनेचयनप्रक्रियाकाअनुपालनकिएबिनारिक्तपदकेसापेक्षतैनातीदेदी।शासनकेआदेशपरऐसेशिक्षकोंकीखोजकीजारहीहै।जल्दहीऐसेजिलाविद्यालयनिरीक्षक(डीआईओएस)कार्रवाईकेदायरेमेंहोंगे,जिन्होंनेआंखमूंदकरनियुक्तियांबांटीहैं।

अशासकीयसहायताप्राप्त(एडेड)माध्यमिककॉलेजोंमेंप्रधानाचार्य,प्रवक्तावप्रशिक्षितस्नातकशिक्षककेरिक्तपदपरचयनकरनेकाजिम्माउत्तरप्रदेशमाध्यमिकशिक्षासेवाचयनबोर्डकोहै।नियमहैकिसंबंधितसंस्थासेअधियाचनमंगाकरडीआइओएसचयनसंस्थाकोभेजें।कॉलेजोंकाप्रबंधतंत्रचयनितकीजगहचहेतेशिक्षकोंकार्यभारग्रहणकरातारहाहै।डीआईओएससेसांठगांठकरउनकीमुरादपूरीहोतीरहीहै।ऐसेशिक्षकोंकाविनियमितीकरणसरकारेंकरतीरहींहैं,क्योंकिउनमेंकोर्टकाआदेशआड़ेआतारहा।

इसबारभीशीर्षकोर्टमेंसंजयसिंहवअन्यबनामउत्तरप्रदेश राज्यसेसंबद्धसिविलअपीलोंमेंमांगकीगईथीकिशिक्षकोंकाविनियमितीकरणकियाजाए।शासनकोसूचनाहैकिप्रदेशमेंहजारोंशिक्षकनियमानुसारनियुक्तनहींहै,क्योंकिचयनबोर्डनियमितचयनकरतारहाहै।डीआईओएसनेजिलोंसेरिक्तपदोंकाअधियाचनभेजाहीनहीं।कुछडीआईओएसनेअधियाचनभेजनेकानाटककिया,यानीअपनेकार्यालयकेडिस्पैचमेंपत्रदर्जकराया,लेकिनवहचयनबोर्डनहींपहुंचा।जोरिक्तपदचयनबोर्डतकपहुंचेभीउनपदोंपरनियुक्तिकरलीगई,जबचयनितअभ्यर्थीकालेजोंमेंपहुंचेतोउन्हेंबैरंगलौटनापड़ा।ऐसीहीअनगिनतअनियमितताओंकीजांचशुरूहै।

तीनअफसरोंसेतलबकीगईरिपोर्ट:शासनकेनिर्देशपर19मार्चकोमाध्यमिकशिक्षाके15अफसरोंकीबैठकहुई।माध्यमिकशिक्षाकेविशेषसचिवकुमारराघवेंद्रसिंहनेआदेशदियाकिशिक्षानिदेशकविनयकुमारपांडेय,अपरनिदेशकडॉ.महेंद्रदेववचयनबोर्डकीसचिवकीर्तिगौतम20मार्चतकपांचबिंदुओंपररिपोर्टभेजदें।कोरोनासंकटकीवजहसेयहप्रक्रियाठपरही।अबतेजीसेरिकार्डखंगालेजारहेहैं।

इनबिंदुओंकाब्योराजांचाजारहा

शासनकेसंयुक्तसचिवजयशंकरदुबेनेइनकाजवाबमांगाथा।