तटवर्ती दर्जनों गांव पानी से घिर, ग्रामीणों में खौफ

सिद्धार्थनगर:पड़ोसीजनपदबलरामपुरमेंतबाहीमचारहीराप्तीअबजिलेकेगांवोंमेंनुकसानपहुंचानेकोबेताबहै।नेपालकेपहाड़ीक्षेत्रोंमेंहुईबारिशकेचलतेराप्तीनदीकाजलस्तरकाफीबढ़गयाहै।दर्जनोंगांवोंपरबाढ़काखतरामंडरानेलगाहै।वहींसड़कोंकेकिनारेसैलाबजैसानजारादिखाईदेरहाहै।इटवासेतुलसीपुरकोजानेवालेमार्गस्थितबलरामपुरजिलेकादतरंगवा,सिघवापुर,भुसैलवावगौराडिपपरचारफिटपानीबहरहाहै।इसकेकारणजिलेकीसीमापरआवागमनबाधितहोगयाहै।

जलस्तरबढ़नेसेआमजनकेसाथकिसानोंकीधड़कनेतेजहैं।जहांरोपाईहोचुकीहै,वहांफसलपानीमेंडूबगईहै।जहांनहींहुईहै,वहांरोपाईबाधितहोगईहै।क्षेत्रकेगागापुर,रोहांवबुजुर्ग,मनिकौरा,सफीपुर,परसोहियातिवारी,दखिनहहवा,सिकन्दरपुर,जानकीनगर,नावडीह,कुर्थीडीह,शीतलभीटाआदिगाँवोंकेसीवानजहांपहलेसेहीबारिशकाफीपानीभराथा,वहांबलरामपुरमेंबढ़ेजलस्तरकीवजहसेहरतरफपानीदिखाईदेरहाहै।किसानोंमेंभयव्याप्तहैकिउनकीखेती-किसानीकाक्याहोगा।किसानसत्यप्रकाशशुक्लवमयारामगुप्तानेबतायाकिइसबारधानपहलेहीबोदिएथे,जोपानीमेंडूबगयाहै।रोपाईभीरोकदेनीपड़ीहै,अगरबाढ़आगईहै,तोभारीनुकसानझेलनापड़ेगा।राजाराम,पारसनाथ,पुरुषोत्तम,रामफेर,बाबुल्लाहनेकहाकिगागापुरकेपासनदीकापानीमुख्यमार्गकेकरीबपहुंचगयाहै,बाढ़आईतोसड़कवआसपासजोघरोंहैं,वहनदीमेंविलीनहोसकतेहैं।एसडीएमविकासकश्यपनेकहाकिबढ़ेजलस्तरकेमद्देनजरप्रशासनसतर्कहै,बाढ़चौकियोंकोसक्रियकियागयाहै।सुरक्षाकी²ष्टिसेएहतियातीकदमउठाएजारहेहैं।