टेंडरों का बार-बार निरस्त होना किसी 'घोटाले' का संकेत तो नहीं

श्रावस्ती:गांवोंकेविकासकोलेकरगठितग्रामीणअभियंत्रणसेवामेंइनदिनोंटेंडरोंका'खेल'खेलाजारहाहै।पांच-पांचबारटेंडरोंकोनिरस्तकियेजानेकेबादभीनिविदाओंकानखोलाजानाकिसीबड़ेघोटालेकीओरइशाराकररहाहै।जिसकोलेकरनिविदाताओंमेंजबरदस्तअसंतोषव्याप्तहै।

ग्रामीणअभियंत्रणसेवाविभागमेंजिलेकेविभिन्नगांवोंमें20आंगनबाड़ीकेंद्रोंकेभवनोंकेनिर्माणकरानेऔर15लोहियासमग्रगांवोंमेंसीसीरोडऔरनालीआदिकानिर्माणकरानेकोलेकरकरीबपांचमाहपूर्वटेंडरआमंत्रितकिएगएथे।लेकिनआजतकइननिविदाओंकोखोलानहींजासकाहै।बीतेअगस्तमाहमेंएकबारइनकामोंकीऑनलाइननिविदाएंआमंत्रितकीगईथीं।बीती18अगस्ततकयहनिविदाएंआमंत्रितकीगईथीं।इन्हेंबीती21अगस्तकोखोलाजानाथा।लेकिन31अगस्ततकइननिविदाओंकोनहींखोलाजासकाहै।जिसकोलेकरनिविदादाताओंमेंरोषव्याप्तहै।सूत्रोंकाकहनाहैकिटेंडरोंकाबार-बारनिरस्तकियाजानाकिसीबड़े'टेंडरघोटाले'कीओरइशाराकररहेहैं।इनसभीविकासऔरनिर्माणकार्योसेसंबंधितधनराशिकईमाहपूर्वहीविभागकेखातेमेंआचुकीहै।इससंबंधमेंग्रामीणअभियंत्रणसेवाकेअधीक्षणअभियंतासत्यप्रकाशगुप्ताकाकहनाहैकिनिविदादाताओंकीहैसियतप्रमाणपत्रऔरएफडीआरकीवैधताकीजांचकीजारहीहै।यहजांचपूरीहोनेकेबादनिविदाओंकोखोलाजाएगा,संभवहैकितीन-चारदिनोंकेबादयहनिविदाएंखुलजाएगी।यहसभीविकासकार्यनौ-नौलाखकीधनराशिकीसीमाकेअंदरकेहैं।ऐसेमेंएकशासनादेशकेअनुसारनौलाखरुपयेसेकमलागतकेविकासकार्योकेलिएकिसीभीठेकेदारकेप्रपत्रोंकीजांचकरनाआवश्यकनहींहै।