Tirath Singh Rawat : छात्र राजनीति से सूबे के मुख्‍यमंत्री तक का सफर, बेदाग कॅरियर और मजबूत रहा जनाधार

रामनगर,जागरणसंवाददाता:भाजपानेएकबारफिरअपनेफैसलेसेसबकोचौंकायाहै।उत्‍तराखंडकेनएमुख्‍यमंत्रीकोलेकरजितनेनामचर्चामेंथेसबकोदरकिनारकरपौड़ी-गढ़वालसीटसेभाजपासांसदतीरथसिंहरावतकोसूबेकानयामुखियाचुनागयाहै।अखिलभारतीयविद्वयार्थीपरिषदकेसाथजुड़करछात्रराजनीतिसेराजनीतिकजीवनकीशुरुआतकरनेवालेतीरथसिंहरावतवहीं1992मेंछात्रसंघकाचुनावलड़ाऔरअध्‍यक्षचुनेगए।रामजन्‍मभूमिआंदोलनेमेंदोमाहतकजेलरहेतोराज्‍यआंदोलनमेंभीबढ़चढ़करहिस्‍सालिया।उत्तराखंडकागठनहोनेपरवर्ष2000मेंराज्यकीअंतरिमसरकारमेंतीरथसूबेकेपहलेशिक्षामंत्रीबने।

2019भारीमतोंसेलोकसभापहुंचे

2019लोकसभाचुनावमेंउत्तराखंडकीपौड़ीगढ़वालसीटसेसांसदपहुंचनेवालेतीरथसिंहरावतनेएकऔरकीर्तीमानअपनेनामकरलियाहै।बीतेआमचुनावमेंतीरथनेअपनेविपक्षमेंखड़ेकांग्रेसकेप्रत्याशीमनीषखंडूरीकोपराजितकियाथा।तीरथसिंहरावतशुरुआतीदौरसेभारतीयभारतीयजनतापार्टीजुड़ेरहेहैं।वहफरवरी2013सेदिसंबर2015तकउत्तराखंडभाजपाकेप्रदेशअध्यक्षऔरचौबट्टाखालसेभूतपूर्वविधायक(2012-2017)रहे।जिसकेबादवहभाजपाकेराष्ट्रीयसचिवरहे।उनकाजन्मसीरों,पट्टीअसवालस्यूंपौड़ीगढ़वाल,उत्तराखण्डमेंहुआथा।वर्ष2000मेंनवगठितउत्तराखण्डकेप्रथमशिक्षामंत्रीचुनेगएथे।

2007मेंभाजपाकेप्रदेशमहामंत्रीबने

2007मेंभारतीयजनतापार्टीउत्तराखण्डकेप्रदेशमहामंत्रीचुनेजानेकेबादप्रदेशचुनावअधिकारीऔरप्रदेशसदस्यताप्रमुखरहे।तीरथसिंहरावतनेअपनीराजनीतिकीशुरुआतराष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघसेकी।वहरामजन्मभूमिआन्दोलनमेंदोमहीनेजेलमेंरहे।इसकेअलावाउत्तराखण्डआन्दोलनमेंभीउनकीसक्रियभूमिकारही।इसदौरानवहकईरैलियोंमेंशामिलरहेएवंराज्यआन्दोलनकारीकेरूपमेंचिन्हितकिएगए।उन्होंनेमुज्जफरनगर(रामपुरतिराहे)सेगढ़वालतकशहीदयात्राकाउन्‍होंनेनेतृत्‍वभीकियाथा।

1992मेंगढ़वालविविकेबिड़लाकैंपसकेअध्‍यक्षचुनेगए

पौड़ीजिलेकेकल्जीखालब्लाककेसीरोंगांवकेमूलनिवासीतीरथरावतकाराजनीतिकसफरसंघर्षपूर्णरहाहै।स्व.कलमसिंहरावतकेसबसेछोटेबेटेतीरथनेगढ़वालविविकेबिड़लापरिसरश्रीनगरसेछात्रराजनीतिशुरूकी।वर्ष1992मेंवहसबसेपहलेअखिलभारतीयविद्यार्थीपरिषदकीओरसेगढ़वालविविबिड़लापरिसरश्रीनगरकेछात्रसंघअध्यक्षपदकाचुनावलड़ेऔरजीते।

पार्टीमेंइनपदोंपरभीरहे

वेअभाविपकेप्रदेशसंगठनमंत्री,भाजयुमोमेंप्रदेशउपाध्यक्षऔरराष्ट्रीयकार्यकारिणीसदस्यरहे।वर्ष1997मेंवेउत्तरप्रदेशविधानपरिषदसदस्यकेसदस्यनिर्वाचितहुए।पृथकराज्यउत्तराखंडकागठनहोनेपरवर्ष2000मेंराज्यकीअंतरिमसरकारमेंतीरथसिंहरावतउत्तराखंडकेपहलेशिक्षामंत्रीबने।वर्ष2007मेंभाजपाप्रदेशमहामंत्री,प्रदेशसदस्यताप्रमुख,आपदाप्रबंधनसलाहकारसमितिकेअध्यक्षचुनेगए।

2012मेंचौबट्टाखालसेविधायकचुनेगए

वर्ष2012मेंविधानसभाचौबट्टाखालसेविधायकचुनेजानेकेबादवर्ष2013मेंउन्हेंभाजपाप्रदेशअध्यक्षबनादियागया।वर्ष2017मेंसिटिंगविधायकहोतेहुएटिकटकटनेकेबादपार्टीनेउन्हेंराष्ट्रीयसचिवकीजिम्मेदारीसौंपी।वर्तमानमेंतीरथहिमाचलप्रदेशकेप्रभारीकीजिम्मेदारीभीसंभालरहेहैं।रामजन्मभूमिआंदोलनमेंदोमाहतकजेलमेंरहेतीरथनेउत्तराखंडराज्यआंदोलनमेंसक्रियभूमिकानिभाई।

2013मेंबनायागयाप्रदेशअध्‍यक्ष

नवनिर्वाचितगढ़वालसांसदतीरथसिंहरावतनेप्रदेशअध्यक्ष,प्रभारीऔरप्रत्याशीकेरुपमेंशत-प्रतिशतपरिणामदिए।तीरथको2013मेंभाजपाकेउत्तराखंडप्रदेशअध्यक्षकीजिम्मेदारीमिली।2014केलोकसभाचुनावमेंउत्तराखंडकीपांचोंलोकसभासीटेंभाजपाकीझोलीमेंगईं।लोकसभाचुनाव2019मेंपार्टीनेतीरथकोगढ़वालसीटसेप्रत्याशीबनाएजानेकेसाथहीहिमाचलप्रदेशकेप्रभारीकादायित्वभीसौंपा।उन्होंनेअपनीजीतकेसाथहिमाचलप्रदेशकीचारोंसीटेंजिताकरपार्टीमेंखुदकेकदकोऔरमजबूतकिया।

UttarakhandFloodDisaster:चमोलीहादसेसेसंबंधितसभीसामग्रीपढ़नेकेलिएक्लिककरें