स्वावलंबी बनाने के साथ नारी को सम्मान व सुरक्षा देना सरकार की प्राथमिकता: विमला बाथम

जासं,गाजियाबाद:उत्तरप्रदेशकीमहिलाओंमेंप्रतिभाकीकमीनहींहै।उनकेहुनरकोनिखारनेकीजरूरतहै।इसपरप्रदेशसरकारनेविशेषध्यानदियाहै।ग्रामीणक्षेत्रमेंस्वयंसहायतासमूहबनरहेहैं।इससेमहिलाएंआत्मनिर्भरहोरहीहैं।स्वावलंबीबनानेकेसाथहीनारीकोसम्मानवसुरक्षादेनाप्रदेशवकेंद्रसरकारकीप्राथमिकताहै।यहबातेंबुधवारकोकलेक्ट्रेटमेंराज्यमहिलाआयोगकीअध्यक्षविमलाबाथमनेमहिलाकल्याणविभागद्वाराआयोजितकार्यक्रममेंकहीं।बालिकाओंकोदीनेस्टिगडॉल:उन्होंनेरूडसेटसंस्थानसेप्रशिक्षणलेकरनंगलाअटौरगांवकीजयअम्बेस्वयंसहायतासमूहद्वारातैयारकीगईनिरासेनेटरीनैपकिनलांचकिया।वहींएकस्वयंसहायतासमूहको12हजाररुपयेकीमदददी।पांचअन्यस्वयंसहायतासमूहोंकोकमब्याजदरपर5.50लाखरुपयेकाऋणदियागया।इसकेलिएप्रतीकात्मकचेकभीसौंपागया।पांचबालिकाओंकोजिलाप्रशासनद्वारातैयारकराईगईसक्षमनेस्टिगडॉलदेकरभविष्यमेंआगेबढ़नेवपरिवारकानामरोशनकरनेकीप्रेरणादी।वहींबेटीकानामघरकीशानकार्यक्रमकेतहतपांचअभिभावकोंकोउनकीबेटीकेनामकीनेमप्लेटभेंटकीगई।योजनाओंकीसमीक्षाकी:

राज्यमहिलाआयोगकीअध्यक्षनेमहिलाओंवबच्चोंकेकल्याणकेलिएसरकारद्वारासंचालितहोरहीयोजनाओंकीसमीक्षाकी।इसमेंउनकोबतायागयाकिकोरोनाकेचलतेअपनेमाता-पिताकोखानेवालेबच्चोंकीमददकेलिएशुरूकीगईमुख्यमंत्रीबालसेवायोजनाकेतहतप्रदेशमेंसहारनपुरकेबादगाजियाबादमेंसर्वाधिक339आवेदनआएहैं।इनमेंसे246कासत्यापनहोचुकाहैऔर100बच्चोंकोसहायताराशिदीजाचुकीहै।अध्यक्षनेकहाकिजोबच्चेनिराश्रितहैं,भलेहीउनकेमाता-पिताकानिधनकोरोनासेनहींहुआहै,उनकोभीप्रदेशसरकारप्रत्येकमाहढाईहजाररुपयेकीमददकरेगी।पात्रोंकोइसकालाभदिलायाजानासुनिश्चितकियाजाए।निराश्रितबच्चोंकीस्कूलफीसभीमाफकराईजारहीहै।

जनसुनवाईकेदौरानसुनीशिकायतें:

कलेक्ट्रेटमेंउन्होंनेमहिलाओंसेसंबंधित11मामलोंकीसुनवाईकी।इसदौरानएकबुजुर्गदंपतिनेघरसेनिकालेजानेकीशिकायतकीतोइसमामलेमेंपुलिसकोकार्यवाहीकरबुजुर्गदंपतिकाउत्पीड़नकरनेवालोंपरकार्यवाहीकेनिर्देशदिए।वहींमोदीनगरकीएकमहिलानेबतायाकि17सालपहलेउसकीशादीहुईथी।दोबेटियाहैं,लेकिनपतिनेघरसेनिकालदियाहै।इसमामलेमेंमहिलाथानाकीपुलिसकोदोनोंपक्षोंकीकाउंसलिगकरनेवपत्नीकोघरपररखनेकेलिएरजामंदनहोनेपरआरोपितपतिकेखिलाफकानूनीकार्रवाईकेनिर्देशदिए।इसदौरानजिलाधिकारीराकेशकुमारसिंह,मुख्यविकासअधिकारीअस्मितालाल,जिलाप्रोबेशनअधिकारीविकासचंद्र,जिलाविकासअधिकारीभालचंद्रत्रिपाठी,महिलाकल्याणअधिकारीनेहाआदिमौजूदरहीं।