सूख रहे जलाशय, गहराने लगा पेयजल संकट

सिद्धार्थनगर:बढ़नीचाफान्यायपंचायतअन्तर्गतविभिन्नग्रामसभाओंमेंस्थिततालाबवपोखरेसूखनेलगेहैं।फिलहालविभागएवंप्रशासनकेपासइनमेंपानीभरानेकीकोईयोजनानहींबनसकीहै।यहीवजहक्षेत्रमेंपेयजलसंकटगहरागयाहै।सर्वाधिकसमस्यापशु-पक्षियोंकेसमक्षहै।जोतेजधूपवगर्मीमेंबेहालनजरआतेहैं।पशुओंकेलिएनतोपीनेकापानीउपलब्धहै,नहीनहानेका।

ग्रामपंचायतोंमेंलाखोंरुपयेखर्चकरकेआदर्शजलाशलबनवायागयाथा,उद्देश्यथाकिजलसंरक्षणकेसाथगर्मीकेमौसममेंमवेशियोंकेलिएपेयजलकीसुविधाउपलब्धहोना।परंतुइनदिनोंज्यादातरजलाशयोंकीस्थितिबदहालहै।उपेक्षाकेचलतेनकेवलयेसूखगएहैं,बल्किआसपासगंदगीभीव्याप्तहै।नजरडालेंतोन्यायपंचायतमेंछोटे-बड़ेकुलएकदर्जनदर्जनसेअधिकतालाबहै।यदिइनकीस्थितिपरथोड़ासाभीध्यानदियागयाहोता,तोशायदआजमवेशीपानीकेलिएइधर-उधरभटकतेनदिखाईदेते।रामवृक्षयादव,जितेन्द्रकुमारपटेल,सुकईमौर्या,रामकिशनयादव,रामसजीवन,महेशयादव,खेलावन,ललितमौर्याआदिकाकहनाहै,किअगरसमयरहतेकोईठोसकदमनहींउठायागया,तोआगेऔरविकरालस्थितिमवेशियोंकेसमक्षपैदाहोसकतीहै।खंडविकासअधिकारीसुशीलकुमारअग्रहरिनेकहाकिग्रामप्रधानोंसेबातचीतकरसमस्याकासमाधानकरायाजाएगा।