सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला में कहा, निजी वाहन 'सार्वजनिक स्थल' के दायरे में नहीं आता

नईदिल्ली,प्रेट्र। सुप्रीमकोर्टनेएकअहमफैसलेमेंकहाहैकिकोईनिजीवाहन'सार्वजनिकस्थल'केदायरेमेंनहींआता,जैसाकिनारकोटिकड्रग्सएंडसाइकॉट्रॉपिकसब्सटेंस(एनडीपीएस)एक्टकेतहतकहागयाहै।शीर्षअदालतनेगलतधारामेंकेसदर्जकिएजानेपरआरोपितोंकोबरीकरदिया।

जस्टिसयूयूललितऔरजस्टिसकेएमजोसेफकीपीठपंजाबएवंहरियाणाहाईकोर्टकेफैसलेकेखिलाफअपीलपरसुनवाईकरतेहुएउक्तटिप्पणीकी।हाईकोर्टनेआरोपितोंकोएनडीपीसीएक्टकेतहतसुनाईगईसजाकोबहालरखाथा।

मामलेकेमुताबिकआरोपितबूटासिंह,गुरदीपसिंहऔरगुरमोहिंदरसिंहसड़ककिनारेएकजीपमेंबैठेथे।जीपगुरदीपसिंहकीथी।पुलिसनेउनकेपाससेदोबोरीअफीमकीभूसी(पॉपीस्ट्रा)बरामदकीऔरउनकेखिलाफएनडीपीएसकानूनकीधारा43केतहतमामलादर्जकिया।

निचलीअदालतनेइनतीनोंको10-10सालकैदकीसजासुनाई।इनकेसाथएकऔरआरोपितथा,जिसेअदालतनेबरीकरदिया।अदालतनेएक-एकलाखकाजुर्मानाभीलगायाथा,जिसकेनहींजमाकरनेपरदो-दोसालसश्रमकारावासकाप्रावधानथा।

शीर्षअदालतमेंआरोपितोंकीतरफसेदलीलदीगईकिउनकावाहननिजीथा,सार्वजनिकनहीं।येजरूरहैकिवोलोगसार्वजनिकसड़कपरखड़ेथे।पीठनेकहाकिप्रस्तुतसाक्ष्योंसेयहसाबितहोताहैकिउक्तजीपआरोपितगुरदीपसिंहकीथी,जिसकापंजीकरणनिजीवाहनकेरूपमेंदर्जहै।पीठनेकहाकियहमामलाएनडीपीएसएक्टकीधारा43नहीं,बल्कि42केतहतआताहैऔरआरोपितोंकोबरीकरदिया।

एनडीपीएसएक्टकीधारा42केतहतएकमानदअधिकारीकोसंदिग्धनारकोटिक्सकेमामलेमेंकिसीजगहजाने,उसकीतलाशीलेने,जब्तीऔरगिरफ्तारीकाअधिकारहै।जबकि,धारा43सार्वजनिकस्थलपरजब्तीऔरगिरफ्तारीसेसंबंधितहै।