स्कूल का नाम व गेट न बनाने में सरकार की अनदेखी

राजकुमारराजू,मोगा:14फरवरी2019कोआतंकीहमलेमेंकश्मीरकेपुलवामाक्षेत्रमेंसीआरपीएफकीबसकेचालकजैमलसिंहभीशहीदहोगएथे।

जिसकोलेकरभलेहीमृतककीपत्नीकोसरकारनेकियावायदापूराकरतेहुएइकलौतेपुत्रकोनौकरीदेनेकीबातकहीहै।लेकिनदोवर्षबादभीशहीदकेगांवगलोटीकोजानेवालीसड़कपरगेटबनानेकेसाथसाथशहीदजैमलसिंहकेशिक्षाग्रहणकरनेवालेसरकारीस्कूलकानामशहीदजैमलसिंहकेनामपररखनेकाप्रस्तावपूरानहोनेसेशहीदकीपत्नीनेसरकारपरअनदेखीकाआरोपलगायाहै।कौनहैजैमलसिंह:

जैमलसिंहकाजन्म27अप्रैल1974कोहुआथा।मैट्रिक(10वीं)पासकरनेकेबादवह23अप्रैल1993कोवहसीआरपीएफमेंभर्तीहोगएथे।वहड्राइवरथे।शहादतकेसमयजैमलसिंहजम्मूमेंतैनातथे।यहांसेजैमलसिंहकीसीआरपीएफकी76-बटालियनकश्मीरमेंशिफ्टहोरहीथी,इसीदौरानबसड्राइवकरतेसमयशहीदहोगएथे।14फरवरी2019कावहदिनजबसीआरपीएफकीबसकाड्राइवर45वर्षीयजैमलसिंहसाथियोंकोबसमेंलेकरपुलवामाकीओरजारहाथाकिरास्तेमेंआतंकीहमलेमेंशहीदहुएथे।मृतककीपत्नीसुखजीतकौरनेकहाउससमयसरकारनेअपनाकियावायदापूराकरतेहुएउन्हेंसहायताराशिदेनेकेसाथसाथबेटेकेपढ़ाईपूरीकरनेकेबादनौकरीदेनेकावायदातोपूराकिया।लेकिनपतिकोशिक्षादिलानेमेंसहयोगदेनेवालेसरकारीस्कूलकानामजैमलसिंहकेनामपररखनेकेसाथगांवगलोटीकोजानेवालीसड़कपरगेटबनानेकावायदाकियाथाजोआजतकपूरानहीकियागयाहै।

19वर्षकीआयुमेंगएथेसीआरपीएफमें

सुखजीतकौरनेबतायाकिउनकेपति19वर्षकीआयुमेंसीआरपीएफमेंचलेगएथे,उनकीशादी17सालपहलेउनकेसाथहुईथी।घरमेंबच्चेकीकिलकारियांशादीके12सालबादगूंजी।वहबेटेकोअच्छीशिक्षादिलानाचाहताथा।यहीकारणथाकिउसनेपरिवारकोजालंधरमेंरखाहुआथा।अबवहबेटेकोअच्छीशिक्षादिलानेकेलिएपंचकूलाशिफ्टहोनेकीतैयारीमेंथे।जैमलसिंहबटालियनमेंएमटीइंचार्जथेऔरअधिकतरसमयदफ्तरमेंहीरहतेथे।पुलवामामेंहमलेकेदिनसीआरपीएफकेउसगाड़ीकाचालकछुट्टीपरचलागयाथाऔरऐसेमेंजैमलसिंहखुदगाड़ीलेकरगएथे।