श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में निकाला नगर कीर्तन

संवादसहयोगीजुगियाल:पहलीपातशाहीश्रीनानकदेवजीमहाराजजीकेपावनप्रकाशोत्सवकेउपलक्ष्यमेंशाहपुरकंडीटाउनशिपवआसपासकेक्षेत्रमेंनगरकीर्तननिकालागया।इसकीअध्यक्षताश्रीगुरुसिंहसभागुरुद्वारासाहिबप्रबंधककमेटीकेअध्यक्षसुखविद्रसिंहगोरायानेकी।सैकड़ोंकीसंख्यामेंसंगतनेबढ़-चढ़करहिस्सालिया।नगरकीर्तनमेंफूलोंसेसजीपालकीकेआगेपंजप्यारेचलरहेथे।पालकीमेंश्रीगुरुग्रंथसाहिबजीविराजमानथे।उनकेपीछेसंगतश्रीगुरुजीकेनामकागुणगानकररहीथी।इसदौरानजोबोलेसोनिहालकेजयघोषसेक्षेत्रपावनहोगया।नगरकीर्तनश्रीगुरुसिंहसभागुरुद्वारासाहिबसेशुरूहोतेहुएकालोनीकेविभिन्नभागोंसेगुजरकरवापसश्रीगुरुद्वारासाहिबमेंपहुंचा।रास्तेमेंश्रीगुरुरविदासमंदिरकमेटी,बाबाबालकनाथमंदिरकमेटी,श्रीशिवविश्वकर्मामंदिर,टी-3कालोनी,टी-4कालोनी,मुख्यबैंकचौकवअन्यस्थानोंपरनगरकीर्तनकाभव्यस्वागतकियागया।संगतनेलंगरवखीरकेस्टाललगाए।मुख्यबैंकचौकमेंगुरुभक्तोंद्वारासंगतकेलिएलंगरवखान-पानकाआयोजनकियागयाथा।रणजीतअखाड़ेकेबच्चोंनेगतकेकेजौहरदिखाकरउपस्थितसंगतकोमंत्रमुग्धकरदिया।श्रीगुरुसिंहसभाकेवरिष्ठपदाधिकारीभाईगुरनामसिंहमटौरएवंभाईभूपेंद्रसिंहनेबतायाकि17नवंबरकोश्रीगुरुद्वारासाहिबमेंश्रीअखंडपाठसाहिबआरंभकियाजाएगा।19नवंबरकोभोगडालाजाएगा।इसअवसरपरसभाकेअध्यक्षसेवामुक्तएसडीओसुखविद्रसिंहगोराया,सचिवस्वर्णसिंह,मास्टरकंवलजीतसिंह,मनजीतसिंह,गुरमीतसिंह,भाईअजीतसिंह,भाईसुरेंद्रसिंह,गुरनैबसिंह,तिरलोचनसिंह,सलविद्रसिंह,रविद्रसिंह,संतोखसिंह,कुलविदरसिंहवअन्यमौजूदरहे।