शिक्षक होते हैं समाज का आईना: हेम सिंह

जेएनएन,सहारनपुर।सतीस्मारकइंटरकालेजलुकादड़ीमेंवरिष्ठशिक्षककोसेवानिवृत्तिपरविदाईदीगई।बुधवारकोविद्यालयप्रांगणमेंठाकुरहेमसिंहकीअध्यक्षतामेंपूर्वप्रधानाचार्यरहेवरिष्ठशिक्षकसूरजभानसिंहकोशालवबुकेदेकरविदाईदीगई।इसमौकेपरबतौरमुख्यअतिथिसुभाषसिंहनेकहाकिशिक्षकसमाजकाआईनाहोतेहैंदेशकाभविष्यबनानेमेंशिक्षकोंअहमयोगदानहोताहै।प्रधानजसबीरसिंहनेकहाकिसूरजभानसिंहनेकच्चेरास्तोंपरसाइकिलसे13किमीकासफरतयकरकेइसक्षेत्रमेंशिक्षाकीअलखजगाई।एकसमयथाजबजबइसविद्यालयमेंबच्चोंकोशिक्षादिलानेकेलिएसभीअध्यापकोंकोगांवमेंघर-घरजाकरबच्चोंकोस्कूलभेजनेकेलिएप्रेरितकरनापड़ताथा।इसअवसरपरपूर्वप्रधानाचार्यअजबसिंह,जगदीपसिंहप्रधानजसबीरसिंह,साजुमराणा,कुशलपालसिंह,प्रधानरविद्रसिंह,मा.कंवरपालसिंह,डा.ओमपालसिह,सतेंद्रचौहानएवंविद्यालयप्रबंधनसमितिकेसदस्यएवंस्कूलीछात्र-छात्राएंउपस्थितरहे।रासेयोकासातदिवसीयशिविरसंपन्न

देवबंद:सिद्धार्थमहाविद्यालयआखलौरखेड़ीकाराष्ट्रीयसेवायोजनाइकाईकासातदिवसीयशिविरबुधवारकोसमारोहपूर्वकसंपन्नहुआ।

कार्यक्रममेंमुख्यअतिथिबैंकऑफइंडियाकेप्रबंधकबिजेंद्रसिंहनेछात्रोंकोजीवनमेंआनेवालीकठिनाइयोंसेनघबरानेऔरउनसेनिडरहोकरनिपटनेकाआह्वानकिया।राजकीयआइटीआइकेउपप्राचार्यरामशरणनेबालश्रमकोअपराधबतातेहुएकहाकि18वर्षसेकमआयुकेबच्चेसेमजदूरीकरानासंविधानकेविरुद्धहै।कार्यक्रमअधिकारीबलजोरसिंहनेराष्ट्रीयसेवायोजनाइकाईशिविरकेउद्देश्योंकेबारेमेंबताया।प्रबंधकमहकसिंहऔरप्राचार्यडा.केपीसिंहनेकहाकिछात्रोंको²ढ़ताकेसाथअपनेलक्ष्यकोहासिलकरनाचाहिए।इसमौकेपररामकुमार,दिलीपसिंह,मनोज,हरपाल,डा.प्रदीपकुमार,सुखबीरसिंह,सतबीर,दीपककुमार,वर्तिकात्यागी,प्राचीशर्मा,निरंजन,डिपल,वैशालीपाल,रजतकुमारआदिमौजूदरहे।