शिकार बंद करो अभियान! हिमाचल में 108 साल बाद झीलों में लौटी दुर्लभ मेंडेरियन बत्तख

‎ईटानगर.लंबेसमयसेअरुणाचलप्रदेशकेलोगोंकेजीवनमेंशिकारकीएकअहमजगहरहीहै.इसकेकारणराज्यमेंवन्यजीवोंपरबहुतखराबअसरपड़रहाथा.सरकारनेअरुणाचलप्रदेशमेंएयरगनऔरदूसरीबंदूकोंसेशिकारकोछोड़नेकेलिएएकअभियानचलायागयाथा.इसकाअसरअबदिखनेलगाहै.राज्यमें108सालबादझीलोंमेंदुर्लभमेंडेरियनबतखलौटआईंहैं.जीरोकीवादियोंमेंबनीमानवनिर्मितझीलमेंप्रवासीमेंडेरियनबतखफिरसेदिखाईपड़नेलगीहै.

इसमेंडेरियनबतखकोदुनियाकीसबसेरंगीनजलमुर्गियोंमेंशुमारकियाजाताहै.इसकाआवासपूर्वीएशियामेंहै,खासतौरपरयहचीनमेंबहुतायतमेंपाईजातीहै.इसेफिरसेएकबारअरुणाचलप्रदेशकेसबानसिरीजिलेकेज़ीरोमेंमानवनिर्मितझीलमेंतैरतेहुएपायागया.वनविभागकेअधिकारियोंकेमुताबिकइससेपहलेयह20फरवरी,2021मेंनजरआईथी.इसइलाकेमेंशिकारकरनालोगोंकीजिंदगीकाएकहिस्साहै,ऐसेमेंइसकाअसरवन्यजीवनपरपड़रहाथा.इसलिएयहांबंदूकछोड़नेकाअभियानचलायागया,जोरंगलायाऔरअबइसजलमुर्गीकोदेखकरवन्यजीवअधिकारीखासेउत्साहितहै.

बंदूकनहींचलाओअभियानकीसफलता

इसरंगोसेभरीजलमुर्गीकेवापसलौटनेकेपीछेअरुणाचलप्रदेशसरकारकीअनोखीयोजनाएंहैं,जैसे-एयरगनसरेंडरअभियान.जिसकेजरियेपक्षियोंकीप्रजातियोंकोबचानेकीपहलकीगईहै.इसअभियानकोचालूहुएएकसालसेज्यादावक्तहोगयाहैऔरइसकीबदौलत2000सेज्यादाएयरगनऔरदूसरीबंदूकोंकासमर्पणहुआ.यहीनहींइसअभियानकीबदौलतनसिर्फमेंडेरियनबतख,बल्किस्थानीयटीलकेसाथ-साथयूरेशियनविजियनऔरफाल्केटेडबतखभीदिखाईपड़नेलगीहैं.वन्यजीवअधिकारियोंकीइसकेलिए2018मेंजलसंरक्षणपरियोजनाभीचलाईथी.वन्यअधिकारियोंकाकहनाहैकिलगातारदोसालतकमेंडेरियनबतखकादिखनाबताताहैकिसिखेझीलअबइनप्रजातियोंकेलिएसर्दियोकेप्रवासकास्थलबनचुकाहै.यहीनहींवन्यजीवोंकेसंरक्षणकेलिएयहांपर‘पक्के’बाघअभ्यारण्यस्थलकीघोषणाभीकीगईहै.जिससेजलवायुपरिवर्तनकीवजहसेवन्यजीवोंकोहोरहेनुकसानकोरोकाजासके.

पहलेमणिपुर,असमकीझीलोंमें दिखीथीमेंडेरियनबतख

करीब108सालबाद2021मेंयहमेंडेरियनबतखअसमऔरअरुणाचलप्रदेशमेंनजरआईहै.इसकेपहलेयहपक्षीमणिपुरकीलोकटकझीलमेंऔरपश्चिमअसमकेमानसराष्ट्रीयउद्यानमेंदिखीथी.जीरोकोअरुणाचलप्रदेशकीसबसेखूबसूरतऔरसबसेज्यादाऊंचाईवालीघाटियोंमेंशुमारकियाजाताहै.यहांपरदुर्लभकीटऔरतितलियोंकीप्रजातियांजैसेकैसर-ए-हिंद,अपतानी,महिमा,भूटानमहिमा,ब्राउनगोरगन,औरपेरिसमोरपाईजातीहैं.

ब्रेकिंगन्यूज़हिंदीमेंसबसेपहलेपढ़ेंNews18हिंदी|आजकीताजाखबर,लाइवन्यूजअपडेट,पढ़ेंसबसेविश्वसनीयहिंदीन्यूज़वेबसाइटNews18हिंदी|

Tags:Arunachalpradesh,Assam,Environmentnews,Manipur,Wildlife