सड़क पर बह रहा नाली का पानी, पैदल चलना हुआ मुश्किल

औरंगाबाद।सड़कपरबहरहेपानीसेबरसातकानजारादिखताहै।बमरोडजानेवालीवार्डनंबर-17केमुख्यमार्गकीस्थितिबदतरहै।लिहाजावाहनक्यापैदलचलनामुश्किलहोगयाहै।जलनिकासीकीपुख्ताव्यवस्थानहींकीगईहै।वर्तमानमेंसड़कपरनालीकापानीबहरहाहै।सड़कपरकरीब400मीटरदूरीपरपैदलचलनामुश्किलहै।नालीकापानीनसिर्फसड़कपरबहरहाहै,बल्किआसपासकेघरोंकेदरवाजेतकपहुंचगयाहै।बमरोडमेंजलनिकासीकीसुचारूव्यवस्थानहोनेकेकारणलोगोंकाजीवननारकीयहोगयाहै।इसरोडमेंप्रवेशकरतेहीनालीकापानीभराहै,जोआनेजानेवालोंकास्वागतकरताहै।इसमेंआनेजानेवालेतमामलोगोंकागाड़ियोंसेकपड़ाखराबहोजाताहै।जलजमावसेलोगोंकोजहांबीमारियोंकीआशंकाबनीरहतीहै,वहींदुर्गधसेघरमेंरहनादुश्वारहोगयाहै।जलनिकासीनहोनेसेगलियोंकागंदापानीसड़कोंपरपसरारहताहै।इसीसड़कसेकईछात्र-छात्राएंविद्यालय,को¨चगपढ़नेजातेहैं।उन्हेंइससमस्यासेहमेशापरेशानहोनापड़ताहै।बतातेचलेंकियहसड़कएनएच-139केतरफजानेकासुलभमार्गहै।निवासीराजूभारतीवसंतोषमेहतानेकहाकिनालीकेपानीकीनिकासीहेतुसमुचितव्यवस्थानहींहै,जिसकीवजहसेयेस्थितिबनी।रुपेशसोनीनेकहाकिकईदिनोंसेबदहालीकीस्थितिहैमगरनगरपरिषदप्रशासनपूरीतरहलापरवाहबनाहुआहै,समस्यासमाधानकीबातकौनकहे,कोईमौकेपरवस्तुस्थितिदेखनेतकनहींआया।मो.सोहनसाव,रूबीकुमारी,सोनू,सत्येंद्रतांतीसहितअन्यलोगोनेइसदिशामेंउचितकदमउठाएजानेकीमांगकीहै।