सबरीमाला में बिना बिजली और पंपिग के 2 करोड़ लीटर पानी की बचत, अपनाया गया ये अनोखा तरीका

सबरीमाला।केरलकेसबरीमालासन्निधानममेंबिनाएकभीयूनिटबिजलीखर्चकिएऔरबिनाकिसीमोटरकेइस्तेमालके2करोड़लीटरपानीकीबचतकीगईहै।यहांपानीकीबचतगुरुत्वाकर्षणकेजरिएकीगईहै।पाइपलाइनकीमददसेपानीकुन्नरबांधसेसन्निधानमकेपंडीथवलमतकलायाजाताहैऔरफिरजलकाभंडारण9बड़ेजलाशयोंमेंकियाजाताहै।येजलाशयसबरीमालामेंऊंचेस्थानपरमौजूदहैं।इसकेसाथहीबिनाकिसीमोटरकेइसपानीकोइस्तेमालकेलिएकईइमारतोंतकभीपहुंचायाजाताहै।पांचजलाशयोंमेंपानीहमेशाहीसंरक्षितरहताहैऔरबाकीके4जलाशयोंकापानीइस्तेमालमेंलियाजाताहै।

कुन्ररऔरचकबांधघनेजंगलोंमेंसन्निधानमसे7किमीकीदूरीपरस्थितहैं।येपानीस्वचालितरूपसेखुदहीजलाशयोंतकपहुंचजाताहै।येवोपानीहोताहै,जोइनबांधोंमेंनिचलेस्तरपरहोताहै।पानी6इंचचौड़ीदोलोहेकीपाइपकीमददसेजलाशयोंतकपहुंचताहै।हालांकिइनपाइप्सकोइसीसालतीनबारहाथियोंनेक्षतिपहुंचाईहै।जलाशयोंमेंमौजूदइसपानीकोहरदोघंटेमेंक्लोरीनेटकियाजाताहै।जलप्राधिकरणअधिकारीहरदिनपानीकीगुणवत्ताकीजांचकरतेहैं।कोच्चीपेरुमबलमकेरहनेवालेटीपीप्रदीशबीतेकरीब20सालसेक्लोरीनेटऑपरेटरकेतौरपरकामकररहेहैं।

नएनिर्मितजलाशयमें70लाखलीटरतकपानीसंरक्षितकियाजासकताहै।येटैंक70मीटरलंबाऔर35मीटरचौड़ाहै।इसकेअलावाबाकीके6टैंकमें20लाखलीटरपानीसंरक्षितकरनेकीक्षमताहै।साथहीएकटैंकऐसाहै,जिसमें18लाखलीटरपानीसंरक्षितकरनेकीक्षमताहै।आमतौरपरतीर्थयात्राकेसमयसन्निधानममेंएकदिनमें70लाखलीटरपानीकीजरूरतपड़तीहै।वहींजबयात्रियोंकीबड़ीसंख्यायहांआतीहै,उसदौरानप्रतिदिन1.15करोड़लीटरपानीकीखपतहोतीहै।येपानीइस्तेमालकेलिएजलाशयोंसेपंडीथवलममेंसभीइमारतों,अन्नदानामंडपम,मेसिसऔरऔद्योगिकइकाइयोंतकपहुंचताहै।

तस्वीर-सोशलमीडिया

कोरोनावायरसका'BlackFungal'संक्रमणसेजुड़ाकनेक्शन,जोछीनरहाआंखोंकीरोशनी,इतनेमामलेमिले