Russian Ukraine Conflict: खारकीव में सड़क के दोनों ओर फट रहे थे बम, जान हथेली पर रखकर लौटा अबोहर का हरजिंदर

राजनरूला,अबोहर।युक्रेनऔररूसकेबीचयुद्धछिड़नेकेबादखारकीवमेंफंसाभगवानपुरानिवासीहरजिंदरसिंहसुरक्षितघरलौटआयाहै।उसकेआनेसेअभिभावकोंकीजानमेंजानआईहै।अपनेलालकोआंखोंकेसामनेसहीसलामतदेखउनकेस्वजनभावुकहोगएऔरउन्हेंगलेलगालिया।हालांकिअबभीकईछात्रयूक्रेनमेंफंसेहुएहैं,जिनकीवापसीकेलिएउन्होंनेदुआकी।उनकेपरिवारअबभीचिंतामेंहैं। गुरचरणसिंहनेबतायाउनकाबेटाहरजिंदरसिंहवीरवारसुबहदिल्लीपहुंचाऔरफिरवहांसेटैक्सीकेमाध्यमसेरातकोअबोहरपहुंचा।यूक्रेनकेहालातदेखवहकाफीचिंतितथे।हरजिंदरसिंहकीघरवापसीसेपूरापरिवारखुशहै।

हरजिंदरनेबतायाकिवहअपनेफ्लैटमेंसोयाहुआथा।तभीअचानक24फरवरीसुबहबमबारीशुरूहोगई।इससेवहकाफीघबरागया।युद्धकीबातेंउसनेपहलेकेवलसुनीथी,उसदिनआंखोंकेसामनेबमफूटरहेथे।तीनचारदिनसभीनेबड़ीमुश्किलसेनिकाले।कभीकुछखायातोकभीनहीं।इसीदौरानएडवाजरीजारीहुईकिमेट्रोस्टेशनपहुंचेजिसकेबादवहबमबारीकेबीचटैक्सीकेजरिएमेट्रोस्टेशनपहुंचे।हालांकिटैक्सीकाकिरायाडबलचार्जकियागया।हरजिंदरनेबतायाकिगनीमतयहरहीकिउसकेपासपैसेथे।उसनेदोदिनपहलेहीपैसेबैंकसेनिकालेथे। कईबच्चोंकेपासपैसेखत्महोगएथेऔरएटीएमबंदथे।ऐसेमेंबच्चोंकोकाफीदिक्कतआई।

स्टेशनपरलोगोंनेकुछखाने-पीनेकाइंतजामकिया।इसकेबादवहट्रेनसेपौलेंडपहुंचेतोकुछराहतमिली।हरजिंदरनेकहाकिखारकीवसमेतयुक्रेनमेंहालातकाफीबुरेहैं।जान-मालकाभारीनुकसानहोरहाहै।उन्होंनेबतायाकिपोलैंडमेंभाारतसरकारकीतरफसेफ्लाइटकाइंतजामकियागया।उन्हेंदिल्लीतकनिःशुल्कलायागया।

हरजिंदरनेबतायाकिदिल्लीमेंकईराज्योंनेबच्चोंकोघरलेजानेकाइंतजामकररखाहै।वहलोगअपनेअपनेराज्योंकेबच्चोंकोआवाजलगाकरबुलारहेथेलेकिनयहांपंजाबकीतरफसेऐसाकोईइंतजामनहींदिखा।हरजिंदरसिंहबारबारवहांकामंजरआखोंसामनेदेखरोरहाथा।

छहदिननिकालनेहोगएमुश्किल:मांचरणजीत

हरजिंदरकेघरलौटनेसेमाता-पिताबहुतखुशहैं।पितागुरचरणसिंहवमाताचरणजीतकौरनेभावुकहोतेहुएकहाकिवहबेटेकोलेकरकाफीचिंतितथे।अपनेलालकोसामनेदेखखुशीसेउनकीआंखेंभरआईं।उन्होंनेसशुकलवापसीकेलिएपरमात्मावभाारतसरकारकाआभारजताया।गुरचरणसिंहनेकहाकिजैसेहीवहांएकभारतीययुवककीमौतकीखबरसुनी,उसकेबादतोउनकीचिंताकाफीबढ़गई।मांचरणजीतकौरनेकहाकिहरजिंदरकोयूक्रेनगए6सालहोगएथे।इसकाउन्हेंइतनामहसूसनहींहुआ।युद्धकीखबरसुननेकेबाद6दिननिकालनेमुश्किलहोगए।नकुछखानेकोअच्छालगताथावनहीनींदआतीथी। बसहरसमयबुरेख्यालहीआतेथे।हरजिंदरसिंहजैसेहीघरपहुंचा,पूरेमोहल्लेकेलोगोंनेमुंहमीठाकरवाकरउसकास्वागतकिया।हरजिंदरनेबतायाकिअबोहरकापुनीतबार्डरपारकरसुरक्षितपहुंचचुकाहै। आजकलमेंवहभीभारतपहुंचजाएगा।