रंजीत का शव फुसबंगला पहुंचते ही भड़के लोग, चार घंटे शव के साथ किया सड़क जाम

जागरणटीम,झरिया-जामाडोबा-अलकडीहा-डुमरी:फुसबंगलामोड़केपासरहनेवालेरघुकलसमर्थकरंजीतसिंहउर्फपग्गीकीहत्याबुधवारकीरातबाइकसवारदोयुवकोंनेगोलीमारकरकरदी।क्षेत्रमेंअपनादबदबाकायमकरनेवपुरानीरंजिशकोलेकरगोलीमारीगई।दोनोंहत्यारोंकोस्थानीयलोगोंनेशालीमारकेपासपिस्टलकेसाथदबोचकरजोड़ापोखरथानापुलिसकेहवालेकरदियाथा।

मृतककेभाईहनीसिंहकेबयानपरकमलसेन,नंदनकुमारसहितआठनामजदलोगोंकेखिलाफजोड़ापोखरथानामेंगुरुवारकोमामलादर्जकरायागया।रंजीतकीहत्याकेबादक्षेत्रमेंतनावकामाहौलहै।गुरुवारकेदोपहरमेंपोस्टमार्टमकेबादरंजीतकाशवफुसबंगलापहुंचनेपरपरिवारवस्थानीयलोगोंमेंआक्रोशछागया।लोगशवकेसाथफुसबंग्लामोड़मेंचारघंटेतकसड़कजामकरदिया।आक्रोशितलोगघटनामेंशामिलसभीलोगोंकोगिरफ्तारकरने,जोड़ापोखरथानाप्रभारीआरडीसिंहकाट्रांसफरकरनेकीमांगकररहेथे।भारतीयजनतामोर्चाकेनेतारमेशपांडेयमृतकपरिवारकोन्यायदिलानेघंटोंबैठेरहे।लोगोंनेपुलिसपरअपराधियोंकोसहयोगदेनेवघटनासेजुड़ेअन्यकोगिरफ्तारनहींकरनेकाआरोपलगाया।लोगोंनेसड़कमेंटायरजलाकरपुलिसकेखिलाफआक्रोशजाहिरकिया।

सिदरीकेडीएसपीएकेसिन्हामौकेपरपहुंचेऔरपरिवारवालोंकोन्यायदिलानेकाआश्वासनदिया।कहाकिआरोपितोंकोजरूरसजामिलेगी।लगभगतीनबजेसेसड़कजामसातबजेचारघंटेतकचला।इसकेबादमृतककेपरिवारवालेशवकोउठाकरअंतिमसंस्कारकेलिएलेगये।

पहलेभीरंजीतपरचलीथीगोली:

मृतकरंजीतकेस्वजनोंनेबतायाकिरंजीतरघुकुलसमर्थकथा।पिछलेविधानसभाचुनावमेंकांग्रेसप्रत्याशीपूर्णिमानीरजसिंहकेसाथथा।दोसालपहलेभीरंजीतपरउक्तस्थानपरहीगोलीचलाईगईथी।रंजीतनेइसकीशिकायतजोड़ापोखरथानामेंकीथी।पुलिसकीलापरवाहीसेरंजीतकीजानगई।

दोसालपहलेरंजीतगयाथाजेल:

मृतककेपरिवारवालोंनेबतायाकिरंजीतपरएकमामलेकोलेकरजोड़ापोखरथानामेंमामलादर्जहुआथा।इसवजहसेरंजीतकोसजाभीहुईथी।जेलसेआनेकेबादरंजीतझगड़ासेदूररहताथा।अपनेदोस्तोंकेसाथहीहमेशारहताथा।

गुलगुलियापट्टीमेंहोरहीथीआतिशबाजी,बिजलीगुलथी,तभीमारीगईगोली

स्थानीयलोगोंकाकहनाहैकिबुधवारकीरातफुसबंगलामोड़केपासगुलगुलियापट्टीकेलोगएकव्यक्तिकेजेलसेआनेपरआतिशबाजीकररहेथे।बिजलीगुलहोनेकाफायदाउठाकरआरोपितोंनेरंजीतकोगोलीमारी।आतिशबाजीकीआवाजसेलोगोंकोगोलीकीआवाजपतानहींचला।

लाइटजातेहीसीसीटीवीनहींकरताहैकाम:

जोड़ापोखरथानाप्रभारीआरडीसिंहनेबतायाकिफुसबंगलामोड़मेंसीसीटीवीकैमरालगाहै।लेकिनबिजलीजानेपरयहकामनहींकरताहै।मोड़मेंआएदिनमारपीटवअन्यघटनाएंहोतीरहतीहैं।फुटेजनहींमिलनेसेपुलिसकार्रवाईनहींकरपातीहै।

बचपनसेरंजीतरहताथानानीकेघर

परिवारवालोंनेबतायाकिरंजीतबचपनसेहीनानीकेघरहीरहताथा।रंजीतकीमांनहींहोनेसेनानीउसेअपनेसाथहीरखतीथी।नानीअवतारकौरनेकहाकिबचपनसेजिसकोपालाआजउसीकाशवदेखनापड़रहाहै।रंजीतकेपिताजोगिदरसिंहचालकहैं।

राजनीतिकरंजिशकोलेकररंजीतकीहुईहत्या?

रंजीतकीहत्याराजनीतिकरंजिशमेंतोनहींकीगई।यहचर्चालोगोंमेंहैकिरंजीतरघुकुलसमर्थकथा।घटनाकोअंजामदेनेवालेअपराधियोंकाक्षेत्रमेंआतंककायमहै।हत्यारोंकेबारेमेंकहाजाताहैकिवेलोगहिदूवादीसंगठनकेसमर्थकहैं।पिछलेविधानसभाचुनावमेंभाजपाकेपक्षमेंकामकियाथा।हालांकिस्थानीयलोगअभीखुलकरनहींबोलरहेहैं।डेढ़माहपूर्वरंजीतकीमुंडापट्टीमेंएकउभरतेनेताकेसाथझगड़ाभीहुआथा।पुलिसअगरबारीकीसेजांचकरेंतोचौकानेवालेतथ्यसामनेआसकतेहैं।