RLD प्रमुख चौधरी अजित सिंह को भी कोरोना ने छीना, 22 अप्रैल को पॉजिटिव निकले थे, मोदी ने जताया दु:ख

कोरोनासंक्रमणनेभारतसेएकऔरबड़ाजमीनीनेताछीनलिया।राष्ट्रीयलोकदल(RLD)केप्रमुखऔरपूर्वप्रधानमंत्रीचौधरीचरणसिंहकेबेटेअजितसिंहगुरुवारकोइसदुनियासेचलेगए।82वर्षीयसिंहकईदिनोंसेसंक्रमणसेजूझरहेथे।उनकागुड़गांवकेएकनिजीअस्पतालमेंइलाजचलरहाथा। चाैधरीअजितकेनिधनपरप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेदु:खजतातेहुएशोकसंवेदनाव्यक्तकीहै।पीएमनेस्वर्गीयअजितकेबेटे जयंतचौधरीसेबातकरकेउन्हेंहौसलादिया।

कोरोनासंक्रमणकीदूसरीलहरसेजूझरहेभारतनेएकऔरबड़ाजमीनीनेताखोदिया।राष्ट्रीयलोकदल(RLD)केप्रमुखऔरपूर्वप्रधानमंत्रीचौधरीचरणसिंहकेबेटेअजितसिंहगुरुवारकोइसदुनियासेचलेगए।82वर्षीयसिंहकईदिनोंसेसंक्रमणसेजूझरहेथे।उनकागुड़गांवकेएकनिजीअस्पतालमेंइलाजचलरहाथा।सिंहनेगुरुवारसुबहअंतिमसांसली।संक्रमणनेउनकेफेफड़ोंकोबुरीतरहखराबकरदियाथा।संक्रमणकेकारणउन्हेंनिमोनियाहोगयाथा।डॉक्टरलगातारउनकेस्वास्थ्यकीनिगरानीकररहेथे,लेकिनदोदिनोंसेउनकीसेहतबिगड़तीजारहीथी।तमामकोशिशोंकेबावजूदउन्हेंबचायानहींजासका।

चौधरीअजितसिंहकेनिधनपरप्रधानमंत्रीमोदीनेदु:खजतातेहुएट्वीटकिया-पूर्वकेंद्रीयमंत्रीचौधरीअजितसिंहजीकेनिधनसेअत्यंतदुखहुआहै।वेहमेशाकिसानोंकेहितमेंसमर्पितरहे।उन्होंनेकेंद्रमेंकईविभागोंकीजिम्मेदारियोंकाकुशलतापूर्वकनिर्वहनकिया।शोककीइसघड़ीमेंमेरीसंवेदनाएंउनकेपरिजनोंऔरप्रशंसकोंकेसाथहैं।ओमशांति!मोदीनेअजितसिंहकेबेटेजयंतचौधरीसेफोनपरबातकरकेअपनीसंवेदनाजताई।

मैंबहुतदु:खीहूंकिअपनाएकअच्छादोस्तखोदिया।

राष्ट्रीयलोकदलप्रमुखपूर्वकेंद्रीयमंत्रीचौधरीअजीतसिंहजीकेनिधनसेदुखीहूं।वोगरीबों,मज़दूरों,ग्रामीणोंऔरकिसानोंकीबेहतरीकोलेकरसदैवफ़िक्रमंदरहतेथे।भगवानउनकीआत्माकोशांतिप्रदानकरें।विनम्रश्रद्धांजलि।

राष्ट्रीयलोकदलकेअध्यक्ष,पूर्वकेंद्रीयमंत्रीचौधरीअजीतसिंहजीकेदुःखदनिधनपरमेरीगहरीसंवेदनाएं।ईश्वरसेप्रार्थनाहैकिवेदिवंगतआत्माकोशान्तिप्रदानकरेंएवंशोकसंतप्तपरिजनोंकोयहआघातसहनेकीशक्तिदे।

कईबारकेंद्रीयमंत्रीरहेअजितसिंहजाटसमुदायकेएकप्रभावशालीनेतामानेजातेथे।यूपीमेंतोजैसेउनकादबदबाचलताथा।हालांकिभाजपाकेबढ़तेवर्चस्वकेचलतेऔरपिछलेकुछविधानसभाचुनावकेबादराष्ट्रीयलोकदलअपनाजनाधारखोतीजारहीथी।अजितसिंहबागपतसेपिछलालोकसभाचुनावहारगएथे।उनकेबेटेजयंतचौधरीभीमथुरालोकसभासीटसेअपनीजीतदर्जनहींकरापाएथे।पिछलेकुछसालोंसेअजितसिंहराजनीतिमेंगुमनामसेहोगएथे।12फरवरी,1939कोमेरठमेंजन्मेअजितसिंहनेइंजीनियरिंगकीपढ़ाईकीथी।डॉक्टरोंकेमुताबिक,मंगलवाररातउनकीतबीयतकाफीखराबहोगईथी।उनकेबेटेजयंतनेट़्वीटकरकेनिधनकीखबरदी।अजितसिंह7बारसांसदऔरकेंद्रीयउड्डयनमंत्रीभीरहचुकेथे।वे22अप्रैलकोकोरोनापॉजिटिवनिकलेथे।

अजितसिंहनेअपनीराजनीतिशुरुआत1986मेंकीथी।उसवक्तपिताचौधरीचरणसिंहबीमारथे।ऐसेमेंअजितसिंहकोराज्यसभाभेजागया।अजितसिंह1987से88तकलोकदल-एऔरजनतापार्टीकेअध्यक्षभीरहे।1889मेंजनतादलमेंविलयकेबादवेमहासचिवबनाएगए।इसीवर्षवेपहलीबारबागपतसेसांसदचुनेगए।तबवीपीसरकारथीऔरउन्हेंकेंद्रीयमंत्रीबनायागया।1991मेंवेफिरसांसदबनेऔरनरसिम्हारावकीसरकारमेंमंत्रीबने।96मेंकांग्रेससेसांसदचुनेगए।लेकिनवेलंबेसमयतककांग्रेसकेसाथनहींरहे।1997मेंराष्ट्रीयलोकदलकीस्थापनाकी।इसीवर्षफिरसांसदचुनेगए।लेकिन98केचुनावमेंउन्हेंहारमिली।लेकिनअगलेसालफिरहुएचुनावमेंजीतगए।2001-03तकवाजपेयीसरकारमेंमंत्रीरहे।फिर2011मेंयूपीएसेजुड़गएऔर2014तकमनमोहनसिंहकीसरकारमेंमंत्रीरहे।2014और2019मेंमुजफ्फरनगरसेवेचुनावहारगए।