पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय कल्याण सिंह का विरोध है राष्ट्रवाद का विरोध, प्रयागराज में बोले प्रबुद्ध नागरिक

प्रयागराज,जागरणसंवाददाता।सेवासमितिकेकार्यालयदारागंजमेंआनलाइनविचारगोष्ठीकाआयोजनहुआजिसकाविषयस्वर्गीयकल्याणसिंहवराष्ट्रवादथा।इसकीअध्यक्षताभाजपासांस्कृतिकप्रकोष्ठकेजिलासंयोजकतीर्थराजपांडेयबच्चाभैयानेकी।उन्होंनेकहाकिस्वर्गीयकल्याणसिंहकापूराजीवनराष्ट्रवादकेलिएसमर्पितथा।वहसदैवराष्ट्रविरोधीशक्तियोंकाविरोधकरतेथे।उनकेमरनेकेउपरांतजिसतरहसेअलीगढ़मुस्लिमयूनिवर्सिटीमेंउनकेखिलाफआपत्तिजनकपोस्टरचिपकाएगएउसकासभीराष्ट्रवादीविचारधाराकेलोगविरोधवनिंदाकररहेहैं।कल्याणसिंहकाविरोधराष्ट्रवादकाविरोधहै।

माहौलखराबकरनेवालोंकेखिलाफकड़ीकारवाईकीजाए

पूर्वप्राचार्यडॉक्टरशंभूनाथत्रिपाठीअंशुलनेकहादेशवविश्वविद्यालयकामाहौलखराबकरनेवालोंकेखिलाफकड़ीकारवाईकीजाए।भाजपामहिलामोर्चाकिनेताअनुपमापाण्डेयनेकहाकिस्वर्गीयकल्याणसिंहनेअपनापूराजीवनश्रीरामकेऔरपार्टीकेलिएसमर्पितकियाथा।दुर्गेशनंदिनी,आशानिषाद,विष्णुदयालश्रीवास्तव,अन्नूगुप्ता,केसीपाण्डेय,डॉअजयद्विवेदी,रामाशीषआदिनेअपनेअपनेविचाररखे।प्रयागराजसेवासमितिकेअध्यक्षपंडितधर्मराजपाण्डेयनेकहाकिजबराममंदिरकीबातहोगीतोकल्याणसिंहसदैवयादआएंगे।उनकापूराजीवनअनुकरणीयहै।संगोष्ठीमेंऑनलाइनजुड़ेसदस्योंकेप्रतिआभारज्ञापितकरकार्यक्रमकासमापनकियागया।

स्व.कल्यासिंहकाविरोधसंवैधानिकमूल्योंकाविरोध

यमुनापारभाजपाजिलाध्यक्षविभवनाथभारतीनेकहास्व.कल्याणसिंहकाविरोधसंवैधानिकमूल्योंकाविरोधहै।आखिरपूर्वमुख्यमंत्री,पूर्वराज्यपालकाविरोधकैसेकियाजासकताहै।हमारादेशलोकतांत्रिकहै,ऐसेमेंकिसीजनप्रतिनिधिकाविरोधजनताकाविरोधहै।वास्तवमेंयहमानवीयमूल्योंकाभीविरोधहै।हमसबउससमाजमेरहतेहैजहांदुश्मनकेशवकाभीसम्मानकियाजाताहै।फिरभीकुछलोगमानवीयमूल्योंकाभीअपमानकररहेहैं।ऐसेलोगोकीपहचानकरचेहरेसेमुखौटाहटानाजरूरीहै।इसतरहकेलोगसिर्फअपनास्वार्थकरतेहैं।वास्तवमेंवहदेशविरोधीहैं।