पर्यटन के विकास से बनेगा रोजगार का अवसर

साहिबगंज:साहिबगंजजिलेकेधार्मिकवऐतिहासिकस्थलकीकमीनहींहै।यहांपर्यटनकाविकासकररोजगारकोसृजनकियाजासकताहै।

राजमहलकेजामीमस्जिदएवंबारहद्वारीकेअलावाबरहड़वाकाशुक्रवासिनीमंदिर,पंचकठियाकाक्रांतिस्थलऔरसाहिबगंजकावायसीस्थानमंदिरपर्यटकोंकेआकर्षककाकेंद्रबनाहुआहै।

नयेसालपरजिलेकेगंगाकिनारेसेलेकरराजमहलकीपहाड़ियोंमेंवनभोजकेलिएबाहरसेलोगोंकेआनेकासिलसिलाक्रिसमसकेबादहीशुरूहोजाताहै।

प्रशासनकीओरसेपर्यटनस्थलोंकेविकासकीयोजनाभीबनरहीहैपरंतुझारखंडबननेकेबादसेउसेअमलीजामापहनानेमेंवक्तलगरहाहै।

बरहड़वाकेपश्चिमबंगालकेसीमाक्षेत्रपरगंगासेकुछदूरपरएनएच80केकिनारेस्थितहैमांशुक्रवासिनीकामंदिर।सालोंभरयहांझारखंड,बिहारएवंपश्चिमबंगालकेपर्यटकएवंमांकेभक्तपूजाअर्चनाकरनेआतेहैं।मंदिरकेजमीनकावैसेतोअतिक्रमणप्रशासनएवंआसपासकेलोगकररहेहैंपरंतुपर्यटनस्थलकादर्जादेनेकेलिएविकासकार्यभीचलरहाहै।वैशाखमाहमेंयहांमांकोदूग्धपानकरानेकीपरंपराहै।

साहिबगंज-गोविदपुररोडकेकिनारेबरहेटप्रखंडकेपंचकठियाकाक्रांतिस्थलपर्यटकोंकेआकर्षणकाकेंद्ररहाहै।सालोंभरआदिवासीसमाजकेलोगअपनेपरंपरागततरीकेसेक्रांतिस्थलपरपूजाअर्चनाकरतेहैं।आदिवासियोंकेविदिनसमाजकेलोगयहांहूलदिवसपरजुटकरसिदोकोअंग्रेजोंद्वाराफांसीदेनेकीयादकोशहादतकेरूपमेंमनातेहैं।

जिलाप्रशासनकीओरसेपंचकठियाकाक्रांतिस्थलकोपर्यटननेटवर्कसेजोड़नेकेलिएविकासचलरहाहै।

साहिबगंजगंगातटकावायसीस्थानमंदिरसालोंभरपर्यटकोंएवंश्रद्धालुओंकेआकर्षणकाकेंद्ररहताहै।वायसीमाताकीपूजाअर्चनासालोंभरभक्तिभावसेहोतीहै।गंगास्नानकरश्रद्धालुमांवायसीकीपूजाअर्चनाकरनानहींभूलतेहैं।

गंगाकिनारेकेमंदिरकोविकसितकरनेपरसाहिबगंजकाविकासभीसंभवहै।नयेसालपरलोगयहांपूजाअर्चनाकरनेकेलिएजुटतेहैं।बरहड़वाकाबिदुधाममंदिरभीसालोंभरदेशविदेशसेआनेवालेदेवीभक्तोंकेआकर्षणकाकेंद्रबनताहै।बरहेटकाशिवगादीमंदिरभीसालोंभरआनेवालेश्रद्धालुओंकाकेंद्रबनताहै।यहांपहाड़ीकीगुफामेंभगवानशिवकीपूजाहोतीहै।उधवाकापक्षीआश्रयणीवराजमहलवआसपासकेसभीऐतिहासिकवधार्मिकस्थलभीदेशविदेशसेआनेवालेसैलानियोंकोआकर्षितकररहेहैं।