Police Smriti Diwas: सीएम रावत ने पुलिस जवानों के बलिदान को किया याद, की ये बड़ी घोषणाएं

देहरादून,राज्यब्यूरो। PoliceSmritiDiwas पुलिसस्मृतिदिवसकेमौकेपरबुधवारकोपुलिसलाइनमेंआयोजितरैतिकपरेडमेंमुख्यमंत्रीत्रिवेंद्रसिंहरावतसमेतकईअधिकारियोंनेशहीदोंकोश्रद्धांजलिदेकरउनकीशहादतकोसलामकिया।इसदौरानमुख्यमंत्रीनेशहीदोंकेस्वजनोंकोसम्मानितभीकिया।मुख्यमंत्रीनेसहायकउपनिरीक्षक(एम)सेनिरीक्षकस्तरतककेकार्मिकोंकेलिएहरपांचवर्षमेंवर्दीभत्तामेंएकहजाररुपयेकीबढ़ोत्तरीकरनेऔरपुलिसकार्मिकोंकीमृत्युहोनेपरआश्रितपरिवारकोतत्कालएकलाखरुपयेकीआर्थिकसहायतादिएजानेकेलिएपुलिसशहीदकोषमें75लाखरुपयेकाअनुदानस्वीकृतिकरनेकीघोषणाकी।

पुलिसलाइनमेंआयोजितपरेडमेंशामिलपुलिसकर्मियोंनेशस्त्रझुकाकरमातमीधुनकेबीचशहीदोंकोसलामीदी।मुख्यमंत्रीनेकहाकिड्यूटीकेदौरानप्राणोंकीआहुतिदेनेवालेपुलिसकर्मचारीहमसबकेलिएप्रेरणास्रोतहैं।पूरादेशआजउनकेसम्मानमेंनतमस्तकहै।उन्होंनेकहाकिउत्तराखंडकीअंतरराष्ट्रीयसीमाएंनेपाल,चीनऔरअंतरराज्जीयसीमाएंहिमाचलप्रदेशऔरउत्तरप्रदेशसेमिलतीहै।भौगोलिकऔरसामरिकमहत्वकेदृष्टिगतराष्ट्रकीसुरक्षाकेलिएयहप्रदेशसंवेदनशीलऔरमहत्वपूर्णहै।आजपूराविश्वआतंकवादऔरकोविड-19महामारीसेजूझरहाहै।हमेंइनचुनौतियोंकाडटकरसामनाकरनाहै।

इनसेनिपटनेकेलिएएकसुनियोजितरणनीतिकेतहतकार्रवाईकिएजानेकीआवश्यकताहै।पुलिसमहानिदेशकअनिलकुमाररतूड़ीनेशहीदपुलिसकर्मियोंकोनमनकरतेहुएकहाकिपुलिसकाकार्य24घंटेकाहोताहै।थानाकभीबंदनहींहोता।प्रतिदिनअपराध,शांतिव्यवस्था,आपदाऔरआंतरिकसुरक्षाकीजटिलताएंपुलिसकेलिएनई-नईचुनौतीपेशकररहीहैं।वहीं,कोरोनाकालमेपुलिसकर्मियोंनेजिसतरहजानकीपरवाहकिएबिनाकर्तव्योंकानिर्वहनकिया,वहअत्यंतसराहनीयहै।

रैतिकपरेडमेंविधानसभाअध्यक्षप्रेमचन्द्रअग्रवाल,कैबिनेटमंत्रीसुबोधउनियाल,महापौरसुनीलउनियाल,विधायकहरवंशकपूर,शगणेशजोशी,मुन्नासिंहचौहान,विनोदचमोली,अपरमुख्यसचिवराधारतूड़ी,पुलिसमहानिदेशकअपराधएवंकानूनव्यवस्थाअशोककुमार,रिटायर्डडीजीपीतमिलनाडुबीपीनैनवाल,सेवानिवृतविशेषमहानिदेशकआसूचनाब्यूरो,रेनुकापट्टूवअन्यगणमान्यनागरिकउपस्थितरहे।कार्यक्रमकासंचालनउपनिरीक्षकपूनमप्रजापतिएवंफायरमैनमनीषद्वाराकियागया।

इसलिएमनायाजाताहैस्मृतिदिवस

21अक्टूबर1959कोभारतकीउत्तरीसीमापरलद्दाखके15हजारफीटऊंचेबर्फीलेक्षेत्रमेंकेंद्रीयरिजर्वपुलिसकीएकगश्तीटुकड़ीके10जवानोंनेचीनीअतिक्रमणकारियोंसेलोहालिया।बहादुरीसेलड़तेहुएइनजवानोंनेमातृभूमिकीरक्षाकेलिएअपनेप्राणोंकीआहुतिदीथी।इन्हींवीरसपूतोंकेबलिदानकीस्मृतिमेंप्रत्येकवर्ष21अक्तूबरकोपुलिसस्मृतिदिवसकेरूपमेंमनायाजाताहै।

इससालछहपुलिसकर्मीहुएशहीद

उपनिरीक्षकमायासिंह(नैनीताल),उपनिरीक्षकनरेशपालसिंह(नैनीताल),कांस्टेबलललितमोहन(नैनीताल),कांस्टेबलनंदनसिंह(नैनीताल),कांस्टेबलसंजयकुमार(देहरादून),कांस्टेबलकैलाशलाल(ऊधमसिंहनगर)।

पुलिसझंडादिवसभीमनायागया

इसवर्षगृहमंत्रालयकेनिर्देशानुसारपुलिसस्मृतिदिवसकेसाथ-साथपुलिसझण्डादिवसभीमनायागया।पुलिसअधिकारियोंवकर्मचारियोंमेंझण्डेवितरितकिएगए।वितरणप्राप्तकेधनराशिभारतसरकारकेनेशनलपुलिसमेमोरियलसोसायटीमेंजमाहोगी।यहधनराशिपुलिसएवंअर्द्धवसैनिकबलोंकेशहीदअधिकारीवकर्मचारीकेपरिवारकेकल्याणमेंव्ययहोगी।डीजीपीनेबतायाकिकोरोनावायरससेबचावसम्बन्धीकार्यमेंड्यूटीकेदौरानकांस्टेबलसंजयकुमारकीमृत्युहोनेपरउनकेआश्रितोंकोपांचलाखरुपयेपुलिसविभागतथा10लाखउत्तराखण्डशासनकीओरसेदियागयाहै।

यहभीपढ़ें:PoliceSmritiDiwas:शहीदपुलिसकर्मीशेरसिंहगंगोलाकाबेटाराकेशभीपीएसीमेंहुआभर्ती