पंप हाउस पर ताला, किसानों के माथे पर शिकन

संवादसूत्र,बम्म:पानीकीसमस्यासेलोगहताशहैंक्योंकिकोईसुनवाईनहींहोरहीहै।चाहेवहसमस्यापीनेकेपानीकीहोयाफिर¨सचाईकी।करीब48सालसेखेतोंमें¨सचाईकीसुविधाप्रदानकरनेवालीन्यूंपल्लियां¨सचाईयोजनासेकिसानोंकोलाभनहींमिलरहाहै।लगभगकरीबएकमाहसेपंपहाउसपरतालालटकनेसेकिसानोंकी¨चताऔरबढ़गईहै।लावारिसपशुओंसेतंगआकरलोगोंनेलाखोंरुपयेखर्चकरकंटीलीतारेंलगाकरगेहूंवचारातैयारकियाहै,जिसकेलिएअबपानीमिलनाबेहदआवश्यकहै।पशुओंकेलिएरखागयाचाराखत्महोनेकीकगारपरहै।अबकिसानपूरीतरहसेहताशहोचुकेहैंकिपशुओंकेलिएचाराकैसेइकट्ठाहोगा।लोगोंकापंपहाउसपररोजआना-जानालगारहताहैकिकबजैसेकर्मचारीसेवाएंदेनेआएंतोपानीलियाजासके,लेकिनहरबारनिराशाहीहाथलगरहीहै।मैहरींकाथलापंचायतकेअंतर्गतबम्मपरनालपुलकेसमीपबनीन्यूंपल्लियां¨सचाईयोजनामेंस्टाफकाअभावकिसानोंकीमेहनतकेआड़ेआरहाहै।¨सचाईयोजनापरकोईभीकर्मचारीनहींहै।सहायकवपंपसंचालकनहोनेसे¨सचाईयोजनाकेलिएपानीनहींमिलरहाहै।यह¨सचाईयोजनापरनाल,पल्लियां,काथलावन्यूंगांवकेकिसानोंको¨सचाईसुविधामुहैयाकरवातीहै।यहांतालालगनेकेबादग्रामीणोंमेंकाफीरोषहै।दिन-रातमेहनतकरफसलकोबचायागयाहै।अबमात्रपानीनमिलनेसेफसलबर्बादहोनेकीकगारपरहै।जबभीग्रामीणपानीकीमांगकेलिएपंपहाउसमेंदस्तकदेतेहैंतोहरबारतालालटकादेखनिराशहोकरवापसलौटतेहैं।ग्रामीणोंमेंजगरनाथ,हेमराज,कमलेश,देशराज,काकू,राजेशआदिनेबतायाकिपंपहाउसपरकार्यरतहेल्परकोजब¨सचाईकेलिएपानीलेनेहेतुफोनकियागयातोउन्होंनेबतायाकिउन्हेंतलवाड़ामेंतैनातकरदियागयाहैजबकिपंपऑपरेटरकीजगहकाफीलंबेसमयसेखालीपड़ीहै।सभीस्थानीयलोगोंनेआइपीएचविभागसेआग्रहकियाहैकिजल्दसेजल्दसमस्याकासमाधानकियाजाए।लोगोंनेचेतावनीदीकिअगरफसलकोसमयरहतेपानीनमिलातोफसलकोउजाड़दियाजाएगाऔरइसकेलिएविभागजिम्मेदारहोगा।

विभागमेंकर्मचारियोंकाबहुतअभावहैतोइसकेलिएदूसरीस्कीमसेकर्मचारीभेजाजाएगाऔरजहां-जहांज्यादाजरूरतमहसूसहोरहीहैवहांपरकर्मचारीभेजदियाजाताहै।जल्दहीसमस्यासेनिजातदिलाईजाएगी।

-देवराजचौहान,एसडीओआइपीएचविभाग।