पंजाब सरकार की अध्यापक विरोधी नीतियों के खिलाफ फूटा गुस्सा, डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट ने फूंकी अर्थी

लुधियाना,जेएनएन। डेमोक्रेटिकटीचर्सफ्रंट(डीटीएफ)औरकच्चेअध्यापकसंघर्षमोर्चानेपंजाबसरकारकीअध्यापकविरोधीनीतियोंकेचलतेशुक्रवारमुल्लांपुरमेंरोषप्रर्शनकिया।उन्होंनेपंजाबसरकारकीअर्थीफूंकनारेबाजीकी।

डीटीएफकेजिलाप्रधानहरदेवसिंहनेकहाकिकच्चेअध्यापकशिक्षाप्रोवाइडर,एआईई,ईजीएस,एसटीआर,आईईवी,आईईआ्रटीवालंटियर्सजोकिपिछले18वर्षोंसेशिक्षाविभागतहतपंजाबकेसरकारीस्कूलोंमेंथोड़ेसेवेतनपरसेवाएंदेरहेहैं,उन्हेपक्कानहींकियाजारहा।उन्हेंमात्रछहहजारवेतनदियाजारहाहै।इनमेंसेबहुतसेअध्यापकऐसेहैंजोउम्रज्यादाहोनेकेचलतेअन्यजगहनौकरीलेनेकेयोग्यभीनहींहैं।कच्चेअध्यापकयूनियनकीरूपिंदरकौर,कमलजीतकौर,मनदीपकौरऔरहरप्रीतकौरनेकहाकिपंजाबकीकैप्टनसरकारभीकेंद्रसरकारकीतरहकोरपोरेटघरानोंकोमुनाफादेनेकेलिएदिनों-दिननिजीकरणकीनीतिअपनारहीहैं।

इसदौरानमनराजसिंहविरक,अंकुशशर्मा,राकेशकुमार,जगजीतसिंह,रवींदरसिंह,जसविंदरसिंहनेकहाकिकच्चेअध्यापकोंकोशीघ्रपक्काकियाजाए।साथही,पूरावेतनऔरसभीभत्तोंसहितरेगुलरपोस्टोंपरबिनाशर्तशिक्षाविभागमेंशामिलकियाजाए।उन्होंनेकहाकिसरकारस्कूलोंकोस्मार्टहोनेकासर्टिफिकेटदेरहीहैपरजितनादेरस्कूलोंकीअसलबुनियादशिक्षादेनेवालेअध्यापकस्मार्टवेतनकेहकदारनहींहोंगे,तबतकसबबेकारहै।