पीरियड में थी महिला तीरंदाज, कोच ने कहा दौड़ो, साई से कर दी शिकायत

जमशेदपुर:साईकेनेशनलसेंटरआफएक्सीलेंसमेंअभ्यासकररहीवरिष्ठमहिलातीरंदाजनेहाईपरफार्मेंससेंटरकेनिदेशकवद्रोणाचार्यपुरस्कारप्राप्तअंतरराष्ट्रीयतीरंदाजीकोचसंजीवसिंहकेखिलाफउत्पीड़नकेआरोपलगायाहै।महिलातीरंदाजनेइसबाबतसाईऔरभारतीयतीरंदाजीसंघसेभीशिकायतदी।वहींहाईपरफार्मेंसनिदेशकसंजीवसिंहसेजवाबमांगागयाहै।मामला24सितंबरकाहै।

संजीवसिंहनेआरोपोंकोनकारा

संजीवसिंहनेमहिलातीरंदाजकेआरोपकोखारिजकरतेहुएकहा,मैंनेतीरंदाजकोकेवलतभीआरामकरनेकोकहाजबवहअस्वस्थहों।मैंनेबसइतनाकियाकिअगरवहठीकमहसूसनहींकररहीहैतोउसेआरामकरे।मैंआगेकोईटिप्पणीनहींकरनाचाहता।

माहवारीकेदौरानपांचचक्करलगानेकीसजादेनेकाआरोप

महिलातीरंदाजनेअधिकारीपरमाहवारीकेदौरानउसेमैदानमेंदौड़तेहुएपांचचक्करलगानेकीसजादीथी।महिलाखिलाड़ीकीशिकायतपरसाईनेतीनअधिकारियोंकीकमेटीबनाकरजांचशुरूकरदीहैऔरआरोपितअधिकारीसेजवाबमांगाहै।

कोचसंजीवनेमैदानसेबाहरजानेकोकहा

गौरतलबहैकिसाईकेनेशनलसेंटरआफएक्सीलेंसमेंदेशभरकेतीरंदाजअभ्यासकररहेहैं।आरोपलगानेवालीमहिलातीरंदाजनेबतायाकि24सितंबरकोखिलाड़ीमैदानपरअभ्यासकररहेथे।वहदौरानमाहवारीसेगुजररहीथी,जिसकीसूचनाउसनेकोचकोभीदेरखीथी।वहमैदानपरकुछदेरसेपहुंची।

हाईपरफार्मेंसनिदेशकसंजीवसिंहवहांपरमौजूदथे।उन्होंनेउसपरभड़कतेहुएदेरीसेआनेपरसार्वजनिकरूपसेअभद्रताकीऔरमानसिकरूपसेपरेशानकिया।

तीरंदाजीकोचसंजीवसिंह।

महिलाखिलाड़ीकाआरोप,भागनेकोकियामजबूर

संजीवसिंहपरआरोपलगातेहुएमहिलातीरंदाजनेकहा,उन्होंनेमुझेभागनेकेलिएमजबूरकियाऔरमुझेधमकीदीकिवहमुझेघरलेजाएगा।किसीतरहमैंनेमैदानकेचारोंओरघूमतेहुएएकचक्करपूराकिया।फिरमैंनेउनसेकहा,'सरमैंदौड़नहींसकती,मैंअपनेपीरियड्सपरहूं'।

वहपूरेगुस्सेमेंचिल्लाएऔरकहा,अगरआपमेडिकलरूपसेबीमारहैंतोमैदानसेबाहरहोजाओ।आपकोएनसीओईमेंरहनेकाकोईअधिकारनहींहै।आरोपहैकिइसपरअधिकारीसंजीवसिंहनेगुस्सेसेकहाकिआपबीमारहैंतोमैदानसेबाहरजाओ,आपकोसेंटरमेंरहनेकाकोईअधिकारनहींहै।

साईनेमामलेकीजांचकेलिएबनाईतीनसदस्यीयकमेटी

साईकीक्षेत्रीयनिदेशकललिताशर्मानेबतायाइसमामलेमेंसाईनेजांचकेलिएतीनअधिकारियोंकीएककमेटीकागठनकिया।कमेटीजल्दहीअपनीरिपोर्टसौंपेगी।भारतीयतीरंदाजीसंघकेमहासचिवप्रमोदचंदुरकरनेकहा,हमेंशिकायतमिलीहै।हमसभीपक्षोंसेबातकरेंगेऔरजल्दहीकोईफैसलालेंगे।

टाटास्टीलखेलविभागकेचीफरहचुकेहैंसंजीवसिंह

संजीवसिंहटाटास्टीलखेलविभागकेचीफरहचुकेहैं।टाटातीरंदाजीअकादमीकीस्थापनामेंउनकाअहमयोगदानरहाहै।दीपिकाकुमारी,डोलाबनर्जीसेलेकरतरुणदीपरायवराहुलबनर्जीकोचसंजीवसिंहकीहीखोजहै।उन्हें1992मेंअर्जुनपुरस्कारसेसम्मानितकियागयाथा,जबकि2009मेंद्रोणाचार्यपुरस्कारमिला।