फसलों को चूहों से बचाने के बतारे तरीके

जागरणसंवाददाता,नवांशहर:मुख्यकृषिअफसरडा.राजकुमारकेनेतृत्वमेंगांवभानमजारामेंकृषिऔरकिसानभलाईविभागकीतरफसेएकविशेषकैंपऔरकिसानगोष्ठीकाआयोजनकियागया।पिछलेसप्ताहइसगांवकेसाथलगतेगांवोंकेकिसानोंद्वाराविभागकेध्यानमेंलायागयाथाकिगांवभानमजारा,बड़वा,बघौरा,रक्कड़ा,बकापुर,जैनपुरआदिकेसाथलगतेगांवोंमेंधानकीफसल,मक्काआदिकीफसलोंकोचूहोंकीतरफसेबहुतनुकसानपहुंचायाजारहाहै।चूहोंकीसमस्याकेसाथदूरकरनेकेलिएकिसानोंकोप्रशिक्षणदेनेकेलिएइसकैंपकाआयोजनकियागयाथा।

डा.नरेशकटारियाकृषिअफसरकीअध्यक्षतामेंइसगांवकेकिसानोंकेखेतोंकानिरीक्षणकियागया।चूहोंकीतरफसेजिनफसलोंकोबहुतनुकसानपहुंचायागयाहै।उन्होंनेकिसानोंकोबतायाकिइससमस्याकाहलव्यक्तिगततौरपरकरनासंभवनहींहै।यदिचूहोंकीरोकथामकेलिएसमूचेगांवमेंमुहिमचलाईजाएतोहीचूहोंकीसमस्यासेनिजातपाईजासकतीहै।इसमौकेपरसर्बजीतसिंहएएसआई,कुलजिदरकुमारएटीएम,जसविदरकौर(एटीएम),लालचंदएसएलए,रामलुभाया,ध्यानसिंहसरपंच,मक्खणसिंहकिसाननेता,महेसिंह,मलकीतसिंह,जुझार,गुरदेवसिंह,दलजीतसिंहआदिशामिलथे।ऐसेकरसकतेहैंचूहोंसेफसलोंकीबचाव

उन्होंनेकिसानोंकोचूहेमारनेकीजहरसंबंधीबतायाकिएकएकड़खेतमें400ग्राममक्का/गेहूंयाबाजराकेदानेलेकरइनमें10ग्रामखानेवालातेल,10ग्रामपीसीहुईचीनीकामिश्रणतैयारकरकेपहलेदोतीनदिनचूहोंकेबिलोंमेंरखाजाएऔरफिरचौथेदिनइसीमिश्रणकोतैयारकरकेउसमें10ग्रामदवाकोअच्छीतरहमिलाकरइसकीइसकीगोलियांबनालीजाएं।इनइनकोचूहोंकेबिलोंकेअंदररखदियाजाए।ऐसाकरनेकेसाथचूहोंकेनुकसानसेछुटकारापायाजासकताहै।इसकेअलवाउन्होंनेकिसानोंकोबतायाकिइससमयधानकीफसलऔरमक्काकीफसलकोकोईबीमारीनहींहै,इसलिएअनावश्यकजहराकाप्रयोगनकीजाए।