फ्लोराइड युक्त पानी पीने से होती हैं कई बीमारियां

सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रमेंराष्ट्रीयफ्लोरोसिसनियंत्रणकार्यक्रमकेतहतसोमवारकोसहियाकोप्रशिक्षणदियागया।प्रशिक्षणमेंफ्लोराइडसेबचावकेलिएमहत्वपूर्णजानकारीग्रामीणोंतकपहुंचानेएवंविभिन्नजलस्रोतोंकानमूनाएकत्रकरसंबंधितलोगोंकेमाध्यमसेफ्लोराइडस्थितलैबमेंभेजवानेकानिर्देशदियागया।जिलाफ्लोरोसिसपरामर्शदात्रीकमेटीकेडॉ.नाथुनसाहनेपानीमेंफ्लोराइडकीपहचानउपयोगकरनेवालेलोगोंकेलक्षणकेसंबंधमेंविस्तृतजानकारीदी।बतायाकिपीनेवालेपानीमेंफ्लोराइडकीमात्रा1.5पीपीएमसेअधिकहोगीतोइससेफ्लोरोसिसनामकबीमारीहोतीहै।इसकापहलाप्रभावदांतऔरहड्डियोंपरहोताहै।फ्लोराइडयुक्तपानीकासेवनकरनेवालेव्यक्तिकेदांतपीलेएवंहड्यिांटेढ़ेमेढ़ेहोजातेहैं।जिससेशरीरकेअंगविकृतहोजातेहैं।नतीजतनइंसानविकलांगताकाशिकारहोजाताहै।स्त्रियोंमेंबांझपनवपुरुषोंमेंनपुंसकताकीस्थितिउत्पन्नहोजातीहै।उन्होंनेसभीसहियाकोअपने-अपनेकार्यक्षेत्रमेंजनजागरूकताकेलिएलोगोंसेमिलकरफ्लोराइउयुक्तपेयजलकाउपयोगनहींकरनेतथानदीतालाबएवंकुआंकापानीउबालकरपीनेकीसलाहदी।कहाकिफ्लोरोसिसकाप्रभावकमकरनेकेलिएअमरूद,आंवला,पपीताआदिफलकोपर्याप्तमात्रामेंलेतेरहनाचाहिए।मौकेपरबीएएमदिनेशकुमारगुप्ता,सुधीरकुमार,तरूणविश्वासआदिउपस्थितथे।