पहाड़ के बंजर होते खेतों में अब पूर्व सैनिक लाएंगे हरियाली

जागरणसंवाददाता,पिथौरागढ़:सैनिकबहुलसीमांतजिलेमेंपूर्वसैनिकअबएकनईइबादतलिखनेजारहेहैं।इसकेलिएपूर्वसैनिकबकायदारक्षाकृषिअनुंसधानएवंविकाससंस्थान(डीआरडीओ)मेंसब्जी,जड़ीबूटी,फूलोंऔरचाराप्रजातिउत्पादनकाप्रशिक्षणलेचुकेहैं।पूर्वसैनिकोंकादावाहैकिजवानीमेंसीमाकीसरहदोंपरजोजज्बादिखायावहींअबखेतोंमेंदिखायाजाएगा।अभीतकमैदानीक्षेत्रोंसेआनेवालीसब्जीकेसहारेचलनेवालाजिलाभविष्यमेंपहाड़कीसब्जियोंकामैदानकेलोगोंकोस्वादचखाएगा।

पूर्वसैनिकोंकेलिएयहपहलप्रारंभहोचुकीहै।पूर्वसैनिकजनकल्याणसमितिकेतत्वावधानमेंसैकड़ोंपूर्वसैनिकोंनेसब्जीउत्पादन,जड़ीबूटीउत्पादन,फलोंकीखेतीऔरजानवरोंकेलिएसदाबहारचाराउत्पादनकाप्रशिक्षणलेनाप्रारंभकियाहै।प्रशिक्षणपंडास्थितरक्षाकृषिअनुसंधानएवंविकाससंस्थानमेंदियाजारहाहै।

पूर्वसैनिकआगेआएतोसंस्थानपहुंचेगागांव-गांव

पिथौरागढ़:रक्षाअनुसंधानएवंविकाससंस्थानमेंपूर्वसैनिकजनकल्याणसमितिकेतत्वावधानमेंआयोजितसंगोष्ठीमेंसंस्थानकेकर्नलसंजीवभल्लाऔरकृषिवैज्ञानिकडॉ.वंदनापांडेयनेप्रशिक्षणकेप्रथमसत्रमेंकम्प्यूटरप्रोजेक्टरकेमाध्यमसेपहाड़ोंमेंउगाईजानेवालेसब्जीउत्पादनमसलनटमाटर,लौकी,खीरा,यूरोपियनगोभी,लालएवंपीलीशिमलामिर्चकेबारेमेंबताया।

पूर्वसैनिकोंनेकहाबसजज्बेकीहैजरूरत

पिथौरागढ़:इसअवसरपरपूर्वसैनिकएवंअध्यक्षव्यापारमंडलपिथौरागढ़शमशेरमहरनेकहाकिपिथौरागढ़मेंप्रतिदिन30से35ट्रकसाग,सब्जीमैदानीक्षेत्रोंसेआतीहै।यदिअपनेगांवोंमेंसब्जीउत्पादनकरेंगेतोजिलेमेंबाहरसेसब्जीआनीबंदहोनेकेसाथहीयहांसेसब्जीबाहरजाएगी।

कै.दीवानसिंहवल्दियानेकहाकिपूर्वसैनिकोंकेलिएसंस्थानद्वाराचलायाजारहायहप्रयाससराहनीयहै।समितिकेसंरक्षककुंडलसिंहमौसालनेकर्नलसंजीवभल्ला,डा.वंदनापांडेयसहितअन्यअधिकारियोंकीपहलकोस्वागतकिया।समितिकेअध्यक्षदानसिंहवल्दियानेविश्वासदिलायाकिअधिकसेअधिकपूर्वसैनिकोंकोइससेजोड़करइसक्षेत्रमेंक्रांतिलानेकाप्रयासकियाजाएगा।उन्होंनेसंस्थानकेएचसीपांडेयकाआभारजताया।

संगोष्ठीमेंमौजूदरहेसैकड़ोंपूर्वसैनिक

संगोष्ठीमेंपूर्वसैनिकोंकाउत्साहकाबिलेतारीफरहा।जिसमेंसैकड़ोंपूर्वसैनिकोंनेप्रतिभागकिया।जिसमेंप्रमुखरूपसेकै.बीएसरावल,सूबे.बीडीपंत,कल्याणसिंहवल्दिया,भुवनवल्दिया,चंचलभंडारी,महेंद्रसिंहवल्दिया,भूपालवल्दिया,सीएमउप्रेती,नैनसिंहभंडारी,जगदीशजोशी,शिवसिंहसुगड़ा,कै.देवराजसिंहज्याला,सू.देवसिंहभाटिया,लक्ष्मणसिंहमहर,मनोजजोशी,रामसिंहखैनाल,दीवानसिंहवल्दिया,विनोदसिंहबिष्टआदिशामिलथे।