पाताल की कोख सुखाकर बुझा रहे प्यास, अधिकांश मिनरल वाटर प्लांट संचालकों के यहां रेन वाटर हार्वेस्‍टिंग सिस्टम नहीं Aligarh news

अलीगढ़,जेएनएन।जिलेमेंमिनरलवाटरप्लांटकीभरमारहै।गलियोंसेलेकररामघाटरोडस्थिततालानगरीमेंप्लांटसंचालितहैं।यहपातालकीकोखसुखाकरलोगोंकीप्यासबूझारहेहैं।अधिकांशप्लांटमेंनतोरेनवाटरहार्वेस्‍टिंगसिस्टमहैं,नहीअन्यमानकपूरेहोरहेहैं।इसओरसेप्रशासननेनिगाहहीफेरलीहैं।जहांयेप्लांटलगेहैं,उसक्षेत्रकाभूजलतेजीसेगिररहाहै।शहरमेंइनप्लांटोंपरनजररखनेकादायित्वनगरनिगमकाहै,मगरकोईनिगरानीनहींरखीजारहीहै।

शुद्धपानीकेनामपरहोरहाखेल

शुद्धपेयजलकेनामपरखेलचलरहाहै।पानीकीबचतकेलिएकेंद्रवराज्यसरकारपूरीशक्तिकेसाथजुटीहैं।अलीगढ़विकासप्राधिकरणकीशहरवअपनेक्षेत्रमें300वर्गमीटरसेअधिकभूखंडपरभवननिर्माणमेंरेनवाटरहार्वेस्‍टिंग सिस्टमकीअनिवार्यताहै।भवनकेनिर्माणकेलिएनक्शापासकरतेसमयहीइससिस्टमकोशामिलकियाजाताहै।आरओप्लांटसंचालकएकलीटरपानीशुद्धकरनेमें10लीटरपानीबर्बादकरतेहैं।इसपानीकीबचतकीजासकतीहै।जिनप्लांटोंमेंरेनवाटरहार्वेस्‍टिंग सिस्टमलगाहै,वेइसपानीकोफिरसेजमीनमेंडालतेहैं।जिनकेयहांयहसिस्टमनहींहै,वेपानीकोनाले-नालियोंमेंबहादेतेहैं।एकप्लांटपरपांचसे10हजारलीटरतकपानीरोजबेचाजाताहै।शादी-समारोहकेसीजनमेंचारगुनातकबिक्रीहोतीहै।

हमकिसीकेकारोबारकोउजाडऩेकीबातनहींकररहे,मगरप्राकृतिकधरोहरकोसंजोभीसकतेहैं।उन्हींधरोहरोंमेंसेएकहैपानी।आरओप्लांटसंचालकोंकोपानीकीबचतकेसंसाधनोंकाप्रयोगकरनाचाहिए।प्रशासनरेनवाटरहार्वेङ्क्षस्टगसिस्टमकीअनिवार्यताकरे।

दीपकपंडित,सामाजिककार्यकर्ता

पानीकीबचतकरनेकेलिएजागरूकताकीजरुरतहै।जिसेदैनिकजागरणबखूबीनिभारहाहै।शहरकेआदशपुरुषपानीबचानेकीजागरूकताकेलिएआगेआएं।आरओप्लांटसंचालकपानीकोशुद्धकरनेपरनिकलनेवालेबाकीपानीकोभीदोबारासेअन्यकामोंमेंप्रयोगकरनाचाहिए।इसपानीकाउपयोगबोतलसाफकरनेमेंभीकरसकतेहैं।

निर्वेशगुप्ता,समाजसेवी