नेहा बनी आर्मी में लेफ्टिनेंट, गांव में खुशी

संवादसहयोगी,अल्मोड़ा:यदिजीवनमेंदृढ़निश्चयकरलियाजाएतोहरराहआसानहोजातीहै।इसवाक्यकोसचकरदिखायाहैजिलेकेब्लॉकलमगड़ाअंतर्गतमल्लाबिनौलागांवकीहोनहारबेटीनेहाभंडारीने।वहअपनेकठोरमेहनतकेबलपरभारतीयथलसेनाकेएमएनएसमेंलेफ्टिनेंटबनगईहैं।नेहाकीइसउपलब्धिपरउनकेगांवमेंहर्षकामाहौलहै।

हालहीमेंआर्मीमेडिकलकॉलेजपूणेमेंहुईपासिंगआउटपरेडमेंपितामहेंद्रसिंहभंडारीऔरमाताजानकीभंडारीनेबेटीकेकंधेपरस्टारलगाएतोउनकेखुशीकेआंसूछलकपड़े।नेहाबचपनसेहीपढ़ाईमेंमेधावीरहीहैं।नेहानेहाईस्कूलवइंटरकीपढ़ाईआर्मीपब्लिकस्कूलरानीखेतसेप्रथमश्रेणीमेंउत्तीर्णकी।एकअगस्त,2013कोउनकाचयनआर्मीमेडिकलकालेजपुणेमेंबीएस-सीनर्सिगकेलिएहोगया।चारसालकेकठिनप्रशिक्षणकेबादनेहाभारतीयथलसेनामेंलेफ्टिनेंटबनगईहैं।हालहीमेंपुणेमेंहुईपासिंगआउटपरेडमेंआखिरीपगपारकरवहभारतीयसेनाकीअभिन्नअंगबनगई।नेहाकेपितामहेंद्रसिंहभंडारीसेवानिवृत्तजेसीओतथामाताजानकीगृहिणीहैं।उनकाबड़ाभाईसुमितभंडारीमेडिकलकीपढ़ाईतथाछोटीबहनअनुभंडारीबीबीएद्वितीयवर्षमेंअध्ययनरतहै।नेहाअपनेगांवसेपहलीमहिलालेफ्टिनेंटबनीहै।उन्होंनेअपनीसफलताकाश्रेयप्रधानाचार्यकमलेशजोशीअपनेमाता-पितातथाभाई-बहनोंकोदियाहै।नेहानेअभिभावकोंकोसंदेशदियाहैकिवहअपनीबेटियोंकीशिक्षापरभीविशेषध्यानदें।आजबेटियाहरक्षेत्रमेंमुकामहासिलकररहीहैं।

इधरनेहाकेलेफ्टिनेंटबननेपरक्षेत्रीयविधायकगोविंदसिंहकुंजवाल,मोहनसिंहबगड़वाल,शेरसिंहबगड़वाल,बॉक्सिंगकीराष्ट्रीयकोचहेमलताबगड़वाल,पारसनाथसिंह,प्रधानविमलादेवी,पूरनसिंहभंडारी,देवेंद्रभंडारी,सूरजसिंहभंडारी,नंदनसिंह,शंकरसिंहतथायतींद्रसिंहनेप्रसन्नताव्यक्तकरतेहुएनेहाकेउज्ज्वलभविष्यकीकामनाकीहै।