NDA के साथ मजबूती से खड़े हैं, नरेंद्र मोदी को दोबारा PM बनाकर रहेंगे: उपेंद्र कुशवाहा

उपेंद्रकुशवाहा(फाइलफोटो)

केंद्रीयमंत्रीएवंराष्ट्रीयलोकसमतापार्टीकेप्रमुखउपेन्द्रकुशवाहानेकेंद्रमेंसत्तारूढ़राजगकासाथछोड़नेकीअटकलोंकोसिरेसेखारिजकरतेहुएकहाकिउनकीपार्टीराजगकेसाथमजबूतीसेखड़ीहैऔरदेशहितमेंअगलेपांचवर्षोंकेलियेनरेन्द्रमोदीकोदोबाराप्रधानमंत्रीबनानेकीखातिरप्रतिबद्धहै.कुशवाहानेजोरदियाकिउनकीपार्टीउच्चन्यायपालिकामेंसमाजकेसभीवर्गोंकाप्रतिनिधित्वसुनिश्चितकरनेकेलिये‘हल्लाबोल,दरवाजाखोल’अभियानकोआनेवालेसमयमेंपूरीताकतसेआगेबढ़ायेगी.

उपेन्द्रकुशवाहानेकहा,‘राजगगठबंधनमजबूतीसेआगेबढ़रहाहै,हमराजगकोमजबूतबनानेकेलियेलगेहैंऔरलगेरहेंगे.’उनकेखीरसंबंधीकथितबयानकेबारेमेंपूछेजानेपरमानवसंसाधनविकासराज्यमंत्रीनेकहा,‘इसकागलतअर्थनिकालागया.इसकासंदेशसमाजकेलियेथा,यहकोईराजनीतिकबयाननहींथा.’   मानवसंसाधनविकासराज्यमंत्रीकेअनुसार,उनकेकहनेकाआशयथाकिसमाजकेअलगअलगवर्गोंसेचीजेंआएंऔरउनसेखीरबनेतोसमाजकातानाबानामजबूतहोगातथादेशमजबूतीसेआगेबढ़ेगा.

उपेंद्रकुशवाहानेकहाकिकिसीयदुवंशीकेयहांसेदूधआए,ब्राह्मणकेयहांसेचीनी,पिछड़ेकेयहांसेपंचमेवा,दलितकेयहांसेतुलसीआएऔरयहसामग्रीमिलाकरबनीखीरअगरमुसलमानभाईकेदख्तरखानपरबैठकरखाईजाएतोदेशकोताकतमिलेगी.यहीतो‘सबकासाथ,सबकाविकास’काआशयहै.राष्ट्रीयलोकसमतापार्टीकेप्रमुखनेकहाकिइसबयानकाकोईराजनीतिकमतलबनहींथालेकिनलोगकयासलगानेकेलियेस्वतंत्रहैं.

यहपूछेजानेपरतेजस्वीयादवएवंराजदकेकुछनेताओंनेआपकेविपक्षीमहागठबंधनमेंशामिलहोनेकेसंकेतदियेहैं,कुशवाहानेकहा,‘उन्हेंनिराशाहीहाथलगेगी.’   भाजपाकेसाथसीटोंकेबंटवारेकेबारेमेंपूछेजानेपरउन्होंनेकहाकिबातचलरहीहैलेकिनइसबारेमेंउचितमंचपरहीचर्चाकरेंगे. उन्होंनेकहाकिउनकीपार्टीकेमुद्देसमाजकासम्पूर्णविकास,शिक्षा,समानताकाअवसरप्रदानकरनाऔरअनुसूचितजाति,जनजातिएवंओबीसीवर्गकेहितोंकीरक्षाकरनाआदिहैं.कुशवाहानेकहाकिसामाजिकन्यायकेलियेसबसेबड़ामुद्दाउच्चन्यायपालिकामेंसमाजकेसभीवर्गोंकोप्रतिनिधित्वप्रदानकरनाहैजोकॉलेजियमप्रणालीकेकारणसंभवनहींहोपारहाहै.

उन्होंनेजजोंकीबहालीकीकॉलेजियमप्रणालीकोअलोकतांत्रिकबतातेहुएकहाकिउनकीपार्टीने‘हल्लाबोल,दरवाजाखोल’अभियानशुरूकियाहैताकिउच्चन्यायपालिकामेंसभीवर्गोंकेआमलोगोंकेलियेरास्तासाफहोसके.कुशवाहानेबिहारमेंकानूनव्यवस्थाकीस्थितिपरसवालउठातेहुएकहाकिखुदमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारहालहीमेंपुलिसअधिकारियोंकेसाथबैठकमेंइसबारेमेंचिंताजताचुकेहैं.