नौआ तालाब का बिगड़ा स्वरूप

बांका।अतिक्रमणएवंगादभरजानेसेक्षेत्रकेअधिकांशतालाबोंकास्वरुपहीबदलगयाहै।इसकाखामियाजागांवकेआमलोगभुगतरहेहैं।हमबातकररहेहैमोजाहिदपुरगांवकेनौआतालाबकी।

यहतालाबलगभगदसएकड़केभूभागमेंफैलाहुआथालेकिनहालकेवर्षोंमेंगांवकेचंदलोगोंकीबुरीनजरसेयहतालाबभीनहींबचपाया।हालातयहहोगईहैकियहनौआतालाबअबचंदबीघाकाहोगयाहै।यहींविवादकाकारणहैकितालाबमेंगादभरजानेसेपानीकाठहरावनहींहोपाताहै।

ग्रामीणतेजनकामतीनेबतायाकितालाबमेंसीधेनहरसेपानीआजाताथा।जिससेकिसानधान,गेंहूएवंसब्जीकीखेतीइसीतालाबकेपानीसेकरलेतेथे।लेकिनकुछवर्षपूर्वहीगांवकेदबंगकीबुरीनजरइसतालाबपरपड़गई।जिसकेकारणअबइसतालाबकेपानीसेधानकीफसलकीसिचाईभीनहींहोपातीहै।पंचरामविलासपंजियारानेबतायाकिगांवकीलगभग150घरोंकीआबादीहै।सिचाईकाएकमात्रनौआतालाबहीहै।पूर्वसेहीसिचाई,मवेशीकोपानीपिलाना,छठपूजाआदिकार्यगांवकेलोगकियाकरतेहैं।गांवकेकुछलोगइसतालाबकेअस्तित्वकोसमाप्तकरनेपरआमदाहै।पूर्वपंचमालतीदेवीनेबतायाकितालाबकेअतिक्रमणएवंगादभरजानेसेफसलमेंसिचाईकरनेमेंकाफीपरेशानीहोतीहै।इसकेसाथतालाबमेंपानीकाठहरावनहींहोनेसेगांवकेअधिकांशचापाकलएवंबोरिगपुरीतरहफेलहोचुकाहै।जिससेग्रामीणोंकोकाफीपरेशानीकासामनाकरनापड़ताहै।ग्रामीणरमेशमांझीनेबतायाकिगांवमेंनब्बेफीसदीलोगखेतीपरआश्रितहै।सब्जीकीखेतीसेअधिकआमदनीहोतीहै।तालाबकाअतिक्रमणहोजानेसेफसलमेंसिचाईकरनेमेंकाफीपरेशानीहोतीहै।दो-तीनवर्षोसेपानीकीसमस्याकोलेकरसब्जीकीखेतीमेंकाफीकमीहुईहै।जिससेकिसानोंकेआमदनीपरप्रतिकूलअसरपड़ाहै।नौआतालाबगैरमजरूवाजमीनपरहै।इसपरभीभू-माफियाकीबुरीनजरलगीहुईहै।