मुख्यमंत्री योगी बोले - यूपी राम-कृष्ण-शंकर की भूमि, इसका सांस्कृतिक विकास होना चाहिए

यूपीकेसीएमयोगीआदित्यनाथ.

उत्तरप्रदेशकेमुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथनेपिछलीसरकारोंपरमथुराऔरअयोध्याकीअनदेखीकरनेकाआरोपलगातेहुएकहाकिदोनोंशहरोंमेंउनकेजानेपरउन्हेंकोईभीसांप्रदायिकनहींकहताहै.

मुख्यमंत्रीनेकहा,‘‘एकसमयथाजबलोग(पिछलीराज्यसरकारें)अयोध्याऔरमथुराकेविकासकेलिएपैसादेनेमेंयहसोचकरहिचकतेथेकिकहींसाम्प्रदायिकहोनेकाठप्पानलगजाए.लेकिनहमनेइससोचकोबदलनेकेलिएअयोध्यामेंदिवालीमनाईतोहोलीब्रजमेंमनानेकाफैसलालिया.अबकोईनहींकहसकताकिमथुराआनेपरमैंसाम्प्रदायिकहोगया.’’

योगीकलपं.दीनदयालउपाध्यायपशुचिकित्साविश्वविद्यालयपरिसरमेंउत्तरप्रदेशपर्यटनविभाग,उप्रब्रजतीर्थविकासपरिषदएवंब्रजभूमिविकासट्रस्टकेसंयुक्ततत्वावधानमेंआयोजित‘ब्रजहोलीरंगोत्सव’काउद्घाटनकरनेकेलिएयहांपहुंचेथे.

मुख्यमंत्रीनेकहा,‘‘यहप्रदेशराम,कृष्णऔरशंकरकीभूमिहै.ऋषियों,मुनियों,साधु-संतों,योगियोंकीभूमिहै.हमारीधरोहरहै.हमेंइनकेप्रतिगौरवअनुभवकरनाचाहिए.इनस्थलोंकाभौतिकविकासभीहोनाचाहिए.हमनेब्रजकेविकासकेलिएतीर्थविकासपरिषदकागठनकरबजटमें100करोड़रुपयेकाप्रावधानकियाहैऔरइतनीहीराशिहमसीएसआरसेभीजुटारहेहैं.’’

उन्होंनेकहा,‘‘कृष्णनेयहांजन्मभलेहीलियाहो,किंतुवेअखण्डभारतकेआराध्यहैं.उन्होंनेपूरबकोपश्चिमसे,तोउत्तरकोदक्षिणसेजोड़नेकाकार्यकिया.वेदेशकेहरस्थलकीसंस्कृतिमेंदेखनेकोमिलतेहैं.ब्रजमेंतोजैसेहरगांवसेउनकाकोईनकोईनिकटसंबंधहै.उनकेदिएब्रजसंगीतकाभारतीयशास्त्रीयसंगीतपरभीगहराप्रभावहै.उन्होंनेदुनियाकोप्रेमकीभाषासिखलाई.’’

योगीआदित्यनाथनेरंगोत्सवकीसंयोजकएवंसांसदहेमामालिनीकेसामाजिकएवंसांस्कृतिकप्रयासोंकीभूरि-भूरिप्रशंसाकरतेहुएउनकेएवंशास्त्रीयगायकपं.जसराजकीइच्छानुसारयमुनाकिनारेइसीप्रकारकाकार्यक्रमआयोजितकरनेकीइच्छाजल्दपूरीहोनेकीकामनाकीऔरश्रीकृष्णजन्मस्थानपरभीऐसाहीएककार्यक्रमप्रस्तुतकिएजानेकीसलाहदी.

उन्होंनेइसमौकेपरसंगीतमार्तण्डपं.जसराजऔरबांसुरीगायकपं.हरिप्रसादकासम्मानभीकिया.उन्होंनेअयोध्यावमथुराकोसांस्कृतिककेंद्रोंकेरूपमेंविकसितकरनेतथाहोलीकोअंतर्राष्ट्रीयइवेंटबनाएजानेकीबातभीकही.

इसअवसरपरधर्मार्थकार्यएवंसंस्कृतिमंत्रीचौ.लक्ष्मीनारायण,पर्यटनमंत्री(स्वतंत्रप्रभार)प्रो.रीताबहुगुणाजोशी,जिलेकेप्रभारीमंत्रीभूपेंद्रचैधरी,ऊर्जामंत्रीश्रीकांतमिश्राएवंब्रजविकासपरिषदकेउपाध्यक्षशैलजाकांतमिश्राआदिभीउपस्थितथे.