मंत्रोच्चार के साथ प्रतिमा की हुई प्राण- प्रतिष्ठा

सिमडेगा:शहरकेझूलनसिंहचौकस्थितनटराजगलीमेंनवनिर्मितबजरंगबलीमंदिरमेंप्राण-प्रतिष्ठानकोलेकरपूरीश्रद्धाएवंउल्लासकेसाथअनुष्ठानकाआयोजनकियागया।आचार्यसतीशपाठक,अनुरागपाठक,अमितमिश्र,संदीपपांडेयवअविनाशपांडेयनेपूरीविधि-विधानपूर्वकवैदिकमंत्रोच्चारणकेसाथप्रतिमाकीप्राण-प्रतिष्ठाकराई।इसमौकेपरकीर्तनकेसमापनकेहवनपूर्णाहुतिकराईगई।जिसकेबादप्रसादकावितरणकियागय।इसमौकेपरआस-पाससेबड़ीसंख्यामेंश्रद्धालुशामिलहुए।सबोंनेमंदिरमेंबजरंगबलीएवंसाईंकीप्रतिमाकादर्शनकरआशीर्वादमांगा।मौकेपरडीडीसिंहभीमौजूदरहे।इधररात्रिमेंभजनसंध्याकाकार्यक्रमकाआयोजनकियागया।जिसमेंबाहरसेआएकलाकारोंनेकर्णप्रियभजनसुनाकरलोगोंकोमंत्रमुग्धकरदिया।कलशयात्रामेंशामिल251महिलाएं

बानो:बानोप्रखंडकेपाड़ोंमेअष्टप्रहरीहरिकीर्तनकेपहलेदिनकलशयात्रानिकालीगई।कलशयात्रामेविभिन्नगांवके251महिलाएंशामिलहुईं।इसकेबादकलशकीस्थापनाकीगई।यजमानकेरूपमेंकृष्णासिंहवबालकीदेवीशामिलहुए।पुरोहितकीभूमिकाहरिद्वारकेपुरोहितअशोककुमारनेपूजासंपन्नकराया।कार्यक्रमकोसफलबनानेमेंकीर्तनसमितिकेअध्यक्षसुरेशसिंह,मोहनसिंह,सचिवविश्वनाथसिंह,कोषाध्यक्षसुभाषचंद्रसिंह,ललितसिंह,टकबरसिंह,विजयसिंह,छोटेलाल,परशुरामसिंह,भुनेश्वरसिंह,दमोदरसिंह,खिरोधरसिंह,कामेश्वरसिंह,बजीनाथसिंह,गौतमसिंह,ईश्वरसिंह,फलिद्रसिंह,मोहनमहतो,पदमादेवी,हसमतीदेवी,रविद्रसिंह,नकुलसिंह,आनंदमहतो,गजेंद्रसिंह,थलेश्वरीदेवी,भीमसिंह,प्रकाशमहतो,बुधेश्वरसिंहकीअहमभूमिकारही।