महिला स्टेशन पर रोती रही, फिर जनशताब्दी के आगे छलांग लगा दी

जामताड़ा:शुक्रवारकोसुबहकरीबदसबजेजामताड़ारेलवेस्टेशनस्थितदोनंबरप्लेटफार्ममेंतेजगतिसेआरहीएक्सप्रेसट्रेनकेआगेश्रीपल्लीनिवासी45वर्षीयमीनाक्षीसिंहनेकूदकरआत्महत्याकरली।मृतकमहिलाअपनेपुत्रीसमेतअन्यपरिवारसदस्योंकेसाथश्रीपल्लीस्थितमांताराअपार्टमेंटमेंरहतीथी।मृतकाकापतिपुरुषोत्तमसिंहकोलकातामेंसचिवालयकर्मीकेपदपरकार्यरतहै।वेसमय-समयपरजामताड़ाआवाजाहीकरतेथे।शुक्रवारकोमृतकमहिलाकेपतिकोलकातामेंथे।आरपीएफकीसूचनापरमधुपुरथानाजीआरपीनेजामताड़ास्टेशनपहुंचकरशवकोअपनेकब्जेमेंलियावपरिजनोंकीमौजूदगीमेंपोस्टमार्टमकरशवकोपरिजनोंकोसौंपदिया।मृतकमहिलाकेशवकाअंतिमसंस्कारपैतृकगांवबिहारमेंहोनाहै।इसनिमित्तपरिजनशवकोलेकरपैतृकगांवरवानाहोगएहैं।स्टेशनमेंऐसाभीमार्मिकदृश्यथाकिपुत्रीप्लेटफार्मकेबाहरमातमीचेहरालिएबैठीरहीपरउसकीहिम्मतनहींहोरहीथीकिमांकाशवजाकरदेखपाए।

---पुरुषोत्तमकापैतृकगांवबिहारहै:पुरुषोतमसिंहकापैतृकगांवबिहारस्थितमुंगेरजिलाकेसंग्रामपुरथानाकेतारापुरगांवहै।पुरुषोत्तमसिंहकेबड़ाभाईविजयसिंहपरिवारकेसदस्योंकेसाथजामताड़ाकेश्रीपल्लीस्थितमांताराअपार्टमेंटमेंरहतेथे।पिछलेमाहविजयसिंहअपनीबेटीसेमिलनेबंगलुरूगएथे।जबकिपुरुषोत्तमसिंहकोलकातामेंपरिवारकेसदस्योंकेसाथरहतेथे।मीनाक्षीसिंहअपनीपुत्रीकेसाथदोतीनमाहपूर्वजामताड़ापहुंचीथी।तभीसेयहांरहरहीथी।पुरुषोतमसिंहकीबड़ीपुत्रीकोलकातामेंसीएकररहीहै।छोटाएकमात्रपुत्रबंगलुरूमेंइंजीनिनयरिगकीपढ़ाईकररहाहै।

--ट्रेनआतहीलगाईछलांग:झाझासेआसनसोलकीओरजारहीजनशताब्दीएक्सप्रेसट्रेनमेंजामताड़ास्टेशनकेदोनम्बरप्लेटफार्मसेमहिलानेट्रेनकेआगेपटरीपरछलांगलगादी।दोनम्बरप्लेटफार्ममेंट्रेनकेइंतजारमेंबैठेप्रत्यक्षदर्शीबतातेहैंकिमहिलाकरीब20मिनटसेस्टेशनपरिसरकेअंतिमछोरमेंबैठकररोरहीथी।जनशताब्दीकोआतेदेखपहलेट्रेनकोप्रणामकियाफिरज्योंहीट्रेनकरीबआइप्लेटफार्मसेपटरीपरछलांगलगादी।

--क्याकहतेहैंपति:पतिपुरुषोत्तमसिंहनेबतायाकीपत्नीपिछलेएकसालसेअवसादसेग्रसितथी।पत्नीबच्चेकेसाथकोलकातामेंरहतीथी।माहभरपूर्वजामताड़ाभाईकेआवासमेंआईथी।अपार्टमेंटसेअन्यदिनकीतरहशुक्रवारकोभीबाहरनिकली।दोपहरबादभीजबवापसनहींआई।इसबीचआरपीएफनेघटनाकीसूचनादी।तभीहमकोलकातासेजामताड़ारवानाहुए।पत्नीअवसादसेग्रसितथी।आत्महत्याकीयहीवजहथी।