मानवीय सेवा की ईमानदार प्रतिमूर्ति थे टाइगर जोगिन्दर सिंह, डाकू बुझारत को पकड़ा था जिन्‍दा

वाराणसी,जागरणसंवाददाता। एकजमानेमेंघोड़ेपरचढ़करआतंककेपर्यायबनेडाकूबुझारतकोजिन्दापकड़नेवालेदिलेरपुलिसअधिकारीजोगिन्दरसिंहकोजनतानेटाईगरकीउपाधिदेकरअमरकरदिया।टाईगरजोगिन्दरसिंहकीईमानदारीऔरअपराधियोंमेंटाईगरकेखौफकीकहानियांआजभीप्रचलितहैं।आजभीपूर्वांचलकेलोगटाइगरकोबड़ेसम्मानसेयादकरतेहैंऔरपुलिसअधिकारियोंसेटाइगरकीतरहबननेकाख्वाबपालतेहैं।टाइगरजोगिन्दरसिंहनहींरहे,लेकिनइसबातमेंजीनेमेंक्याहर्जहैकिटाइगरहोतेतोऐसाहोता,टाईगरहोतेतोवैसाहोता।

टाईगरजोगिन्दरसिंहकीस्मृतिमेंविशालभारतसंस्थानएवंटाईगरजोगिन्दरसिंहमेमोरियलसोसाइटीकेसंयुक्ततत्वावधानमेंसुभाषभवन,इन्द्रेशनगर,लमहीमेंपुलिसएवंमानवीयसेवाविषयकसंगोष्ठीकाआयोजनकियागया।संगोष्ठीकेमुख्यअतिथिपूर्वपरियोजनाअधिकार,नेडारणविजयसिंह,विशिष्टअतिथिडा.निरंजनश्रीवास्तव,अध्यक्षताकररहेविशालभारतसंस्थानकेअध्यक्षडा.राजीवश्रीवास्तवनेनेताजीसुभाषचन्द्रबोसकीमूर्तिएवंटाईगरजोगिन्दरसिंहकीतस्वीरपरमाल्यार्पणएवंदीपोज्वलनकरसंगोष्ठीकाशुभारम्भकिया।

संगोष्ठीमेंविचारव्यक्तकरतेहुयेमुख्यअतिथरणविजयसिंहनेकहाकिधार्मिककट्टरपंथपूरेविश्वकीशांतिकेलियेखतराहै।दुनियांधर्मकेनामपरहोरहीहिंसासेपीड़ितहै,पूरीमानवताकीधर्मकेलियेबलिदीजारहीहै।भारतधार्मिकहिंसाकोकमकरनेकीताकतरखताहै।सतर्कताबरतनेऔरनिगरानीरखनेसेधार्मिकहिंसाकेखतरेकोकमकियाजासकताहै।पुलिसअपनेथानाक्षेत्रमेंहिंसाफैलानेवालोंकीसूचीतैयारकरेऔरसरकारकट्टरपंथियोंकीआर्थिकताकततोड़े।पुलिसकीबड़ीजिम्मेदारीहै,इसखतरेसेनिबटनेकेलिए।

विशिष्टअतिथिडा.निरंजनश्रीवास्तवनेकहाकिधार्मिकहिंसापहलेराज्यपोषितथाजोअबसड़कोंपरखुलेआममानवताकोकलंकितकररहाहै।तैमूर,नादिरशाह,बाबरसबनेधर्मकेनामपरहिंसाकोजायजठहराकरशांतिप्रियभारतकोकुचलदिया।आजपूरायूरोपधार्मिकहिंसाकीआगमेंझुलसरहाहै।धार्मिककट्टरपंथियोंकीवकालतभारतकेसेकुलरबुद्धिजीवीकरतेहैं,जिससेउनकेमंसूबेसफलहोरहेहैं।पुलिसबिनाकिसीभेदभावकेधार्मिककट्टरपंथियोंऔरउनकेसंरक्षकों,पक्षकारोंकोभीकानूनकेदायरेमेंलायेंतभीइससमस्याकाक्षेत्रीयहलनिकलपायेगा।गोष्ठीकीअध्यक्षताकररहेविशालभारतसंस्थानकेअध्यक्षएवंइतिहासकारडा.राजीवश्रीवास्तवनेकहाकिधर्मगुरूओंकोपुनःविचारकरनाचाहियेकियदिधर्मशांतिकामार्गदिखाताहैतोधर्मकेनामपरपूरीदुनियांमेंहिंसाक्योंहोरहीहै।धर्मकेनामपरकत्लकोजायजठहरानेवालोंकीजमातपूरीमानवताकीदुश्मनहै,इसजमातकापर्दाफाशजरूरीहै।

स्थानीयस्तरपरपुलिसऔरखुफियाएजेंसियांऐसेलोगोंकेनामउजागरकरेजोधार्मिकहिंसाफैलातेहैं,उनकीमददकरतेहैं।हिंसाफैलानेवालोंसेभीज्यादाउनकेमददगारगुनहगारहैं।पुलिसदेशबर्बादकरनेकामंसूबापालनेवालोंकेप्रतिकोईसहानुभूतिनदिखाए।कार्यक्रमकेसंयोजकटाईगरजोगिन्दरसिंहमेमोरियलसोसाइटीकेअध्यक्षडीएनसिंहनेकहाकिटाईगरजोगिन्दरसिंहकीस्मृतिमेंप्रत्येकवर्षपांचहजाररुपयेकापुरस्कारधार्मिककट्टरतासेमुक्तकरानेएवंमजहबीएकतास्थापितकरनेवालेकिसीभीदेशकेनागरिककोदियाजातारहेगा,ताकिटाईगरकीस्मृतिलोगोंकेजेहनमेंबनीरहेऔरपुलिसअधिकारीउनकीतरहबननेकाप्रयासकरें।संगोष्ठीकासंचालननजमापरवीननेकियाएवंधन्यवादअर्चनाभारतवंशीनेदिया।इससंगोष्ठीमेंडा.मृदुलाजायसवाल,नाजनीनअंसारी,अशोकसहगल,खुशीरमनभारतवंशी,इलीभारतवंशी,उजालाभारतवंशी,प्रभावति,सरोजदेवी,गीता,किसुना,लीलावति,पार्वती,नगीन,प्रियंका,सीमा,कलावती,चन्दा,रीता,उर्मिला,शीला,किरन,किशुना,अर्चना,गीता,रेखा,पूनमआदिलोगोंनेभागलिया।