मांगों की अनदेखी बर्दाश्त नहीं करेंगे पीटीसी मजदूर

संवादसहयोगी,अल्मोड़ा:उत्तराखंडजलसंस्थानकीपीटीसीमजदूरयूनियननेअपनीविभिन्नमांगोंपरकार्रवाईनहोनेपरनाराजगीव्यक्तकीहै।संगठनकेसदस्योंनेकहाहैकिसरकारमनमर्जीपरउतरआईहै।जिसेसंगठनकभीबर्दाश्तनहींकरेगा।

अपनीकईमांगोंकोलेकरजलसंस्थानकेपीटीसीमजदूरपिछलेकुछदिनोंसेआंदोलनकररहेहैं।गुरुवारकोगांधीपार्कमेंआयोजितसभाकोसंबोधितकरतेहुएवक्ताओंनेकहाकिवहवहपिछलेपच्चीससालोंसेपूरीईमानदारीसेविभागकोअपनीसेवाएंदेरहेहैं।लेकिनइसकेबादभीन्यूनतमवेतनदिएजाने,महंगाईभत्तेकाभुगतानकिएजाने,सामाजिकसुरक्षाभविष्यनिधिन्यायालयकेनिर्णयकेअनुसारजमाकिएजाने,रिक्तपदोंपरनियमितीकरणकिएजाने,सेवानिवृत्तिकेबादतीनहजाररुपयेकीपेंशनदिएजानेकीमांगकीजारहीहै।लेकिनइसकेबादभीसरकारउनकीमांगोंपरकोईकार्रवाईनहींकररहीहै।संगठनकेसदस्योंनेकहाहैकिअगरउनकीमांगोंपरशीघ्रकोईकार्रवाईनहींकीगईतोउग्रआंदोलनकीरणनीतितैयारकीजाएगी।धरनासभामेंजिलाध्यक्षकिशनभंडारी,बहादुरराम,मोहनसिंह,नाथूसिंह,नारायणसिंह,इंद्रदेवड़ी,दलीपसिंह,चंदनसिंह,मोहनजीना,बिशनदत्त,नंदनसिंह,कृष्णासिंह,शिवराजसिंह,जीवनसिंह,प्रतापसिंह,पूरनचंद्र,जीवनसिंहसमेतअनेकलोगमौजूदरहे।