माघ में नहीं बरसे मेघ, तो टूट जाएंगे किसान

विजयद्विवेदी,श्रावस्ती:पानीबरसैआधापूसा,आधागेहूं,आधाभूसा।महाकविघाघकीयहकहावततराईमेंइसबारनिर्मूलसाबितहुईहै।पूरापूसबीतगया,लेकिनएकबूंदभीपानीनहींबरसा।पूसकीबारिशगेहूंकेलिएज्यादालाभदायकमानीजातीहै,लेकिनमौसमकेबदलतेमिजाजकेचलतेइसबारपूसमेंपानीहीनहींबरसा,जबकिपिछलेवर्ष30से40मिमीबारिशहुईथी।अगरमाघमेंभीबारिशनहींहुईतोरबीफसलोंकेउत्पादनपरअसरपड़ेगाहीसाथहीसिचाईकोलेकरकिसानटूटजाएंगे।कृषिवैज्ञानिकभीइसबातकीपुष्टिकरतेहैंकिबारिशनहोनेसेफसलोंकेउत्पादनपरअसरपड़ेगा।

तराईकेकिसानगेहूंवधानकीखेतीपरहीनिर्भररहतेहैं।नेपालसीमासेलगेसिरसियाब्लॉकक्षेत्रमेंतोबोरिगहीनहींपासहोतीहै।इसलिएयहांकेकिसानोंकीखेतीभगवानकेभरोसेहीहोतीहै।पूसकेबादमाघकीबारिशभीअच्छीमानीजातीहै,लेकिनअभीतकएकबूंदभीपानीनहींबरसाहै।गेहूंकीतोसाधनसंपन्नलोगकिसीतरहसिचाईकरलेतेहैं,लेकिनदलहनीवतिलहनीफसलोंकेलिएबारिशहीसहाराहोताहै।कृषिविभागकेआंकड़ोंपरगौरकरेंतो12248हेक्टेअरक्षेत्रफलमेंतिलहनीव28367हेक्टेअरक्षेत्रफलमेंदलहनीफसलेंलहलहारहीहैं।कोहरेवपालेकीमारसेइनफसलोंमेंमाहूकीटलगनेकीसंभावनाबढ़गईहै।किसानकहतेहैंकिअगरबारिशहोजायतोफसलोंपरपड़ापालाधुलजायऔरइनकीबढ़वारकेसाथपैदावारभीबढ़जाए।कृषिवैज्ञानिकडॉ.विनयकुमारबतातेहैंकिफसलोंकोपानीकीजरूरतहै।पानीनबरसनेसेदलहनी,तिलहनीफसलोंकेउत्पादनपरअसरपड़सकताहै।गेहूंबालीबननेकीअवस्थामेंहैं,जिसेपानीकीसख्तआवश्यकताहै।कृषिवैज्ञानिकडॉ.उमेशकुमारभीकहतेहैंकिरबीकीफसलोंकेलिएइससमयपानीकीसख्तजरूरतहै।अगरमाघमेंभीपानीनहींबरसातोउत्पादनपरअसरपड़सकताहै।इनसेटफसलोंकेलिएवरदानहैमाघकीबारिश

प्रगतिशीलकिसानरामगोपालकैरातीबतातेहैंकिपूसवमाघमेंबारिशकिसानोंकेलिएवरदानमानाजाताहै।खासकरदलहनऔरतिलहनफसलोंकेलिए।गेहूंकीसिचाईतोपंपिगसेटयानहरसेहोसकतीहै,लेकिनमसूर,मटरऔरसरसोजैसीफसलोंकेलिएअधिकतरकिसानप्रकृतिकेभरोसेहीरहतेहैं।किसानओमप्रकाशपटेलकहतेहैंकिमाघकीबारिशसेफसलोंपरपड़ापालाकाअसरधुलकरकमहोजाताहै।किसानशिवगोपालबतातेहैंकिइससमयगेहूंबालीबननेकीअवस्थामेंहैं,जिसेपानीकीसख्तजरूरतहै।अगरमाघभीनहींबरसातोकिसानटूटजाएंगे।फसलोंकेआच्छादनकाविवरणफसलकानामआच्छादनकारकबाहेक्टेअरमेंगेहूं70898जौ11मक्का44तोरिया9142राईवसरसो3046अलसी60चना120मसूर27709मटर538----------कुलयोग111568----------