लगन और संकल्पित भाव से हासिल कर सकते हैं लक्ष्य

प्रहलादतिवारी,रुदौली(अयोध्या):त्रेतायुगीनतमसानसिर्फस्वयंसंवरी,बल्किझीलें,तालाबऔरपोखरेभीनिखरे।तमसाजहांअबजलसंचयनकाजरियाबनरहीहैतोवहींग्राउंडवाटररिचार्जकाभी।तमसाकोसंवारनेकेसाथगांवकीनालियोंकेमुहानेपरलोहेकीजालीलगाईगई,जिससेपानीछननेकेबादतमसामेंगिरसके।कल्याणीनदीसेनिकलनेवालेनालेकोसाफकरायागया,जिससेकल्याणीनदीकाजलस्तरबढ़नेपरउसकाजलभीतमसानदीकोमिलसके।

तमसाकेपुनरुद्धारकीअहमकड़ीरहेमनरेगाकेतकनीकीसहायकआशीषतिवारीकहतेहैंकिलक्ष्यकोसाधनेकेलिएलगनऔरसंकल्पितभावसेकार्यकरनेकीआवश्यकताहैऔरतमसाइसकीजीती-जागतीनजीरहै।वहबतातेहैं,तमसाकामास्टरप्लानतैयारकरतेवक्तयहखासध्यानरखागयाकिअनवरतजलप्रवाहबनारहे।तमसानदीपरचेकडैमभीबने।तमसाकोकल्याणीसेजोड़नेकाभीमास्टरप्लानतैयारहै,लेकिनप्लानमेंअवैधकब्जाबाधकबनगया।नहरकेकिनारेजोपानीभरारहताथा,उसपानीकोतमसामेंलानेकेलिएप्रयासकियागया।उन्होंनेबतायाकिबरसातकेबूंद-बूंदसहेजनेकेलिएमनरेगासेतालाबोंकोसंवाराजारहाहै।ग्रामपंचायतोंमेंजलसंचयनकोबढ़ावादेनेकेलिएतालाबोंऔरपोखरोंकाकायाकल्पकरायागयाहै,जबकिआठझीलोंकीसफाईभीकराईगई।जलसंचयनकेलिएझीलोंकेचारोंओर10से12मीटरचौड़ाबंधाबनायागया।बंधेपरइंटरलॉकिगकराईगई।उन्होंनेबतायाकितालाबोंऔरझीलोंकेचारोंओरछायादारवदेवपौधोंकारोपणकरपर्यावरणसंरक्षणकोभीबढ़ावादियाजासकताहै।तमसाकीतर्जपरहीगांवोंमेंबरसातकीबूंद-बूंदसहेजनेकेलिएमनरेगासेतालाबोंकोसंवाराजारहाहै।इससेनकेवलजलसंचयनकोआयाममिलरहाहै,बल्किगांवमेंहीश्रमिकोंकोरोजगारकाअवसरप्राप्तहोरहाहै।