कृषि कानूनों के विरोध में लहराए काले झंडे

टीमजागरण,हाथरस:कृषिकानूनोंकाविरोधकररहेभाकियूकार्यकर्ताओंनेकेंद्रसरकारकेसातसालपूरेहोनेपरभीविरोधस्वरूपकालेझंडेलहराए।बुधवारकोदावाजिलेभरमेंकालादिवसमनानेकाकियागयाथा,लेकिनइसकाअसरसिर्फदोतहसीलक्षेत्रोंमेंहीनजरआया।सासनीकेगांवअजरोईमेंजिलाध्यक्षचौधरीमलखानसिंहकेनेतृत्वमेंसरकारकोकिसानविरोधीबतातेहुएनारेलगाएगएऔरसरकारकीबुद्धिशुद्धिकेलिएहवनकियागया।वहींसादाबादक्षेत्रमेंपूर्वविधायकप्रतापचौधरीनेअपनेआवासपरकालेझंडेलगाएतोबिसावरमेंकिसानयूनियनकेकार्यकर्ताओंनेकालेझंडेलेकरप्रदर्शनकिया।

विरोध-प्रदर्शनकेदौरानवक्ताओंनेकहाकिकालाकानूनवापसहोनाचाहिए।इसकेलिएहमसबकोमिलकरप्रयासकरनेकीजरूरतहै।कानूनकोवापसकरानेकेलिएक्षेत्रकेसभीकिसानसेएकजुटहोनेकाआह्वानकियागया।इसमौकेपरचंद्रेशचौधरी,जिलाअध्यक्षउदयपालसिंह,साहबसिंह,सुंदरलाल,मनोजपंसारी,श्यामवीरसिंह,महिपालसिंह,दौलतसिंहआदिमौजूदरहे।

गांवअजरोईमेंहुएहवनकेदौरानवक्ताओंनेकहाकिकेंद्रसरकारकिसान-मजदूरोंकोबड़ी-बड़ीकंपनियोंकेहवालेकरनाचाहतीहै।किसानविरोधीकृषिकानूनवापसलिएजाएं।एमएसपीपरकानूनबनायाजाए।पिछलेसालकीअपेक्षाबिजलीवडीजलकेमूल्यमेंबेतहासावृद्धिहोरहीहै,जबकिफसलकोसस्तेदाममेंखरीदकरसरकारकिसानोंकोतबाहकरनाचाहतीहै।किसानोंपरकर्जकाबोझबढ़ताजारहाहै।किसानोंकीजमीनकोपूंजीपतियोंकेहवालेकरनेकीयोजनाहै।इसमौकेपरयोगेंद्रउपाध्याय,गजेंद्रसिंह,जगवीरसिंह,डिगंबरसिंह,श्यामवीरसिंह,चरनसिंह,सोनवीरसिंह,प्यारेलाल,मनोजप्रभाकर,बलवीरसिंह,राजवीर,चरनसिंहबच्चूफौजी,राजनफौजी,जोराबर,कन्हैयालाल,विशंबर,शिवराम,दलवीरसिंह,हरीमोहन,तनुचौधरी,राजकुमारसिंह,हरीचौधरी,प्रवीणसिंह,रोहितचौधरी,संदीपचौधरी,आरसचौधरी,भोलूचौधरी,कुलदीपचौधरी,सागरचौधरी,देवेशचौधरी,रामरतीदेवी,शकुंतलादेवी,हेमलता,ऊषासिंह,पूनमसिंह,सीमादेवी,गुडडीदेवीकार्यकर्तामौजूदरहे।हककीलड़ाईजरूरीहै:चौधरी

पूर्वविधायकप्रतापचौधरीनेकहाहैकिकृषिकानूनकिसानोंकेहितमेंनहींहै।इसलिएपंजाबसहितअन्यकईराज्योंकेकिसानदिल्लीमेंअधिकारोंकोलेकरकाफीदिनोंसेलड़ाईलड़रहेहैं।हमेंभीअपनेअधिकारोंकोलेकरगंभीरहोनापड़ेगा।