कनाडा भेजने के बहाने 27.45 लाख ऐंठे, केस

संवादसहयोगी,मोगा

निजीस्कूलकीएकअध्यापिकाअपनेपतिकोकनाडाभेजनेकेलिएअपनीसाथीअध्यापिकावउसकेजाननेवालेकुछकबूतरबाजोंको27लाख45हजाररुपयेदेबैठी।मगर,दससालबादभीनतोपतिकनाडापहुंचाऔरनहीइसकेलिएदीगईराशिउसेवापसमिली।इसबारेमेंथानासमालसरपुलिसनेपीड़िताकीसाथीअध्यापिकासहितपांचलोगोंकेखिलाफधोखाधड़ीकेआरोपमेंकेसदर्जकियाहै।यहजानकारीजांचअधिकारीथानेदारमुखजिदरसिंहनेदीहै।

उन्होंनेबतायाकिगांवरोडेनिवासीपरमिदरकौरपत्नीबलविदरसिंहनेथानेमेंइसबारेमें2अगस्त,2010कोशिकायतदीथी।शिकायतकर्तानेबतायाथाकिवहपतिबलविदरसिंहकोकनाडाभेजनाचाहतीथी।इसकेलिएउसनेजसकिरणप्रीतकौरपुत्रीकुलविदरसिंह,कुलविदरसिंहपुत्रगुरचरणसिंहनिवासीमकाननंबर609नजदीकएनएसबाबामेमोरियलस्कूलप्रीतनगरमोगा,राजविदरकौरपत्नीराजविदरसिंह,राजविदरसिंहपुत्रदविदरसिंहनिवासीडेमरूखुर्द,विजयकुमारमनसुखलालपुत्रमनसुखलालशंभूभाईमलैयावासी100अनमोलमोतीवरचाहासूरजसिटीगुजरातहालआबाद802पार्कन्यूव्यूहाईराइसयोगीचौकनजदीकस्वामीनारायणमंदिरसूरतगुजरातको27.45लाखरुपयेदिएथे।मगर,उक्तआरोपितोंनेउसकेपतिकोकनाडाभेजनेकेबजायपूरीराशिहीऐंठली।

तीन-चारबारमेंदीथीराशि

इसबारेमेंपीड़ितबलविदरसिंहकेभाईजगरूपसिंहनेबतायाहैकिउसकीभारीपरमिदरकौरगांवरोडेस्थितश्रीगुरुगोबिदसिंहसीनियरसेकेंडरीस्कूलमेंबतौरटीचरतैनातथी।वहींराजविदरकौरपत्नीराजविदरसिंहनिवासीडेमरूखुर्दकार्यरतथी।जसकरनप्रीतकौरपुत्रीकुलविदरसिंहराजविदरकौरकीनजदीकीरिश्तेदारीथी।ऐसेमेंउक्तमहिलाओंद्वाराउसकीभाभीपरमिदरकौरकोउसकेपतिकोविदेशभेजनेकाझांसादेकरउससेउक्तराशिलेली।जगरूपसिंहनेकहाकिपूरापैसातीनसेचारबारकथितआरोपितोंकेएकाउंटमेंडालेगएहैं।

ठगीसेआहतपरिवार

पीड़ितपरिवारकाकहनाहैकिवहकिसानपरिवारसेसंबंधितहैं।ऐसेमेंबदलतेहालातकोलेकरउनकापूरापरिवारकनाडाजानाचाहताथा।जिसकोलेकरउनकेद्वाराआरोपितोंकोपैसादियागयाथा।अबठगीहोनेकेबादउन्हेंबहुतपछतावाहोरहाहै।