किसानों ने कृषि क्षेत्र के लिए अधिक बिजली देने की मांग रखी

जागरणसंवाददाता,मानेसर:ग्रामीणक्षेत्रमेंकृषिकेलिएदीजानेवालीबिजलीकासमयकमहोनेसेकिसानोंकोकाफीदिक्कतहोरहीहै।ग्रामीणोंकाकहनाहैकिइससमयमेंगेंहूकीफसलकोपानीकीजरूरतहोतीहै।ऐसेमेंबिजलीकासमयबढ़ायाजानाचाहिएताकिफसलमेंसमयसेपानीलगायाजासके।किसानोंकाकहनाहैकृषिकीबिजलीकेलिएजोसमयसारणीबनाईगईहै।इससमयउससेअधिकसमयतकबिजलीकीआवश्यकताहोतीहै।किसानोंकोइससमयमेंअधिकसमयतकबिजलीदीजानीचाहिए।इनदिनोंगेंहूकीफसलमेंतीसरीसेचौथीबारपानीलगानापड़ताहै।गुरुग्रामक्षेत्रमेंपानीकीकमीकेकारणफसलकोअधिकपानीकीजरूरतहोतीहै।गांवमोकलवासनिवासीकिसानदेवेंद्रयादवनेकहाइनदिनोंकृषिकीबिजलीकासमयबढ़ायाजानाचाहिए।अभीकेवलचारसेपांचघंटेतकहीबिजलीदीजारहीहै।ऐसेमेंएकएकड़मेंहीपानीलगानेमेंकईदिनलगजातेहैं।इनदिनोंमेंकरीबपांचसेछहघंटेतकहीबिजलीआूपर्तिकीजारहीहै।ऐसेमेंकुछजमीनपरपानीलगायाजासकताहै।इससेफसलकाफीप्रभावितहोरहीहै।इसकानुकसानकिसानोंकोभुगतनापड़रहाहै।इनदिनोंमेंकरीब16घंटेतकबिजलीदीजानीचाहिएताकिफसलोंमेंअच्छेसेपानीलगायाजासके।

ब्रह्मदत्त,किसानकमसमयतककिसानोंबिजलीमिलनेकेकारणकाफीदिक्कतकासामनाकरनापड़रहाहै।इनदिनोंबिजलीकीआवश्यकताअधिकहोतीहै।फसलकोसमयकेअनुसारपानीकीजरूरतहोतीहैअगरसमयपरपानीनमिलेतोपकाईअच्छेसेनहींहोपातीहै।