कानपुर में वाहन धुलाई के नाम पर बड़ी मात्रा में हो रही पानी की बर्बादी, हैरान करने वाले हैं आंकड़े

कानपुर,जेएनएन।जलहीजीवनहै...येस्लोगनसुनातोसभीनेहै,लेकिनइसेधारणकुछलोगोंनेहीकियाहै।यदिइससूत्रवाक्यकीगंभीरताकोलोगसमझतेतोशायदऐसेहालातनहोते।अभीभीकुछनहींबिगड़ा।यदिलोगचेतजाएंऔरपानीकीबर्बादीरोकदेंतोवहअपनाऔरअपनोंकाभविष्यआनेवालेजलसंकटसेबचासकतेहैं।जरूरतहैपहलकी,येआपकोखुदकरनीहोगी।इसकीशुरुआतहमवाहनधुलाईमेंबर्बादहोरहेपानीकोबचाकरकरसकतेहैं।

शहरकेविभिन्नइलाकोंमेंखुलेआमसड़कोंपरतकरीबन2200वाहनधुलाईसेंटरचलरहेहैं।भूगर्भजलकाबेहिसाबदोहनहोरहाहै।आंकड़ोंकेमुताबिकसभीधुलाईसेंटरोंपरप्रतिदिनतकरीबनएककरोड़लीटरसेज्यादापानीबहायाजाताहै।यदियेपानीबचालियाजाएतो60हजारलोगोंकीप्यासबुझाईजासकतीहै।येपानीसड़कोंपरभरताहै।इससेरास्तेटूटजातेहैं।इनकीमरम्मतपरजोधनखर्चहोताहैवहभीबचायाजासकताहै।

पेयजलकाहोरहाप्रयोग:वाहनधुलाईसेंटरोंपरपेयजलसेवाहनोंकीधुलाईहोरहीहै।50से300रुपयेकेलालचमेंसेंटरसंचालकहजारोंलीटरपानीबर्बादकरतेहैं।एककारकीधुलाईपरतकरीबन120से200लीटरतकपानीखर्चहोताहै।

अफसरनहींदेतेध्यान:धुलाईसेंटरोंपरलगामलगानेकेलिएपूर्वमंडलायुक्तइफ्तिखारूद्दीननेअफसरोंकोआदेशदिएथे।कुछदिनसेंटरबंदरहे,बादमेंफिरशुरूकरदिएगए।यदिअफसरध्यानदेतेतोपानीकीयूंबर्बादीनहोती।

महापौरप्रमिलापांडेयनेबतायाकिइसबाबतअफसरोंकीबैठकबुलाकरधुलाईसेंटरोंमेंहोरहीपानीकीबर्बादीकोरोकाजाएगा।

धुलाईसेंटरोंकाहाल