कागजों में सर्वे, हवा में रेललाइन

रविद्रशर्मा,शिमला

विश्वकेमानचित्रपरअपनीअलगपहचानबनाचुकाऔद्योगिकक्षेत्रबद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़(बीबीएन)आजभीरेलसुविधाकेलिएतरसरहाहै।देशऔरप्रदेशमेंरहीसरकारोंनेबीबीएनकेउद्योगपतियोंकोरेलकेनामपरअबठगाहीहै।चुनावकेदौरानबीबीएनकोरेललाइनसेजोड़नेकेहरबारवादेकिएगए,लेकिनकेंद्रमेंरहीसरकारोंनेबजटमेंप्रदेशकोरेललाइनकेनामआश्वासनोंकोझुनझुनाहीथमायाहै।आलमयहहैकिप्रदेशसरकाररेललाइनकेलिएभूमिकाअधिग्रहणहीनहींकरपारहीहै।प्रदेशवकेंद्रसरकारकीबेरुखीसेबीबीएनकेउद्योगपतियोंकोभारीदिक्कतोंकासामनाकरनापड़रहाहै।महंगाट्रांसपोर्टऔरयूनियनोंकीमनमानीकेआगेउद्योगपतिझुकनेकामजबूरहोचुकेहैं।बावजूदइसकेप्रदेशऔरकेंद्रसरकाररेललाइनकेनिर्माणकोलेकरगंभीरनजरनहींआरहीहै।होनाहै345बीघाभूमिकाअधिग्रहण

हिमाचलसरकारनेरेललाइनभूमिअधिग्रहणकेलिएनेगोसिएशनकमेटीकागठनकियाहै,लेकिनवहभूमिअधिग्रहणकरअपनेकरोड़ोंरुपयेफंसानानहींचाहरहीहै।दरअसलबद्दी-चंडीगढ़रेललाइनकेलिएप्रदेशकीकरीब345बीघाभूमिकाअधिग्रहणहोनाहैऔरइसपर300करोड़रुपयेखर्चहोंगे।परियोजनापरखर्चहोनेवालेबजटकोकेंद्रऔरप्रदेशसरकारआधा-आधावहनकरेगी।वहींहरियाणामेंइससेकरीबदोगुणाज्यादाभूमिकाअधिग्रहणकियाजानाहै।यहलाइनहिमाचलकेनजरिएसेतोमहत्वपूर्णहै,लेकिनहरियाणाकेलिएनहीं।इसकारणभीहरियाणासरकारमामलेकोप्राथमिकतासेनहींलेरहीहै।2012मेंपूराहुआसर्वेक्षणकार्य

रेलवेरिक्रूटमेंटबोर्ड(आरआरबी)चंडीगढ़कीटीमनेपड़ोसीराज्यहरियाणाकेसूरजपुरसेबद्दीतकबननेवालेरेलवेट्रैककासर्वेपहलेहीकरलियाहै।आरआरबीकेतहतहरियाणाकेसूरजपुरसेधमाला-लोहगढ़-खेड़ा-टांडा-जोलूवाल-कोना-मढ़ावाला-कंटनेरडिपोबद्दी-हरिपुरसंडोलीट्रैकशामिलहै।इससेपहलेभीबद्दीसेकालकाकेबीचबड़ीरेललाइनकेलिएसर्वेक्षणकाकार्यपूराहोगयाथाऔरपहलीअप्रैल2012कोइसकीरिपोर्टसौंपदीगईहै।मलपुरकाकंटेनरडिपोबनासफेदहाथी

रेललाइनकीघोषणाकेबादप्रदेशसरकारने14.42करोड़कीलागतसेइनलैंडकंटेनरडिपोबद्दीकेमलपुरमें92बीघालैंडपरबनादियाहै।हालांकिबिनारेलवेसुविधासेयहडिपोसफेदहाथीसाबितहोरहाहै।कंटेनरडिपोकाअसललाभतभीमिलेगा,जबयहक्षेत्ररेलवेसुविधासेलैसहोगा।-------------

सरकारचाहेभाजपाकीहोयाकांग्रेसकी,दोनोंकोसमझनेकीजरूरतहैकिबीबीएनप्रदेशकासबसेबड़ाऔद्योगिकक्षेत्रहै।लेकिनयहांकेवलरोडट्रांसपोर्टसुविधाकेअलावादूसरीकोईविकल्पनहींहै।बद्दी-चंडीगढ़रेललाइनबहुतजरूरीहै।यहउद्योगोंकेउत्पादऔरकच्चेमालकोलानेलेजानेमेंतोमददगारहोगीही,लोगोंकोभीसफरकेलिएसुविधामिलेगी।उद्योगोंकोसस्तेट्रांसपोर्टेशनकीसुविधामिलेगी।

शैलेशअग्रवाल,अध्यक्ष,बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़उद्योगसंघ

सरकारचाहेतोकुछभीसंभवहै।बद्दी-चंडीगढ़रेललाइनबनानेकेलिएसरकारोंकीइच्छाशक्तिनहींदिखरहीहै।अभीतकरेललाइनकेलिएभूमिअधिग्रहणहीनहींहोपायाहै।रेललाइनबननेसेसबसेबड़ीराहततोउद्योगोंकोट्रांसपोर्टेशनकेभाड़ेमेंमिलेगी।सस्ताभाड़ाहोगा,मालसमयपरऔरजल्दीपहुंचेगा।इसकेअलावाक्षेत्रकेलोगोंकोसुविधाकाफीहोगी।

अश्वनीशर्मा,संगठनसचिव,बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़उद्योगसंघबद्दी-चंडीगढ़रेललाइनकीघोषणाकेबादआजदिनतकउद्योगपतियोंकोइसकेनिर्माणकेनामपरकेवलआश्वासनहीमिलेहैं।रेललाइनजमीनपरनहींआसकी।हमनेभीअबरेललाइनकीउम्मीदकरनाहीछोड़दियाहै।अबआनेवालीनईसरकारसेउम्मीदरहेगीवहइसबहुप्रतीक्षितपरियोजनाकोजमीनपरउतारदे।

दीपकभंडारी,सलाहकार,बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़उद्योगसंघ।यहदुर्भाग्यहीहैलंबेअरसेसेरेललाइननहींबनपाईहै।मुझेनहींलगताकिकांग्रेसयाभाजपाकेराजनीतिज्ञोंकीरेललाइनबनानेकीकोईइच्छारहीहो।यदिउनकीइच्छाशक्तिहोतीतोआजदिनतकयहरेललाइनबनकरतैयारहोचुकीहोती।वैसेतोयहकामबहुतपहलेहोजानाचाहिएथा,लेकिनआश्वासनोंमेंहीरेललाइनबनीहै।नईसरकारसेउम्मीदहैकिवहइससपनेकोहकीकतमेंबदले।

मुकेशजैन,उपाध्यक्ष,बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़उद्योगसंघ

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप