जयपुरः झील में लापता कमांडो का 100 घंटे बाद भी नहीं मिला कोई सुराग, तलाश में जुटी सेना

जयपुरःझीलमेंडूबतेहुएकोबचानेकेपूर्वअभ्यासकेदौरानहुएहादसेमेंसेनाकेकैप्टनअंकितगुप्ताकोलापताहुएपूरे5दिनयानी100घंटेसेअधिकहोचुकेहैं.आजभीगोताखोरटीमअंकितकोनहींढूंढपाई.कैप्टनकीखोजमेंलगाईगईटीममेंकरीब80से100लोगपानीमेंलगातारबोटसेसर्चकररहेहैं.झीलकापानीठंडा,धुंधलाऔरझाड़ियांहोनेकेकारणगोताखोरोंकोकैप्टनकोढूंढनेमेंलगातारअसफलतामिलरहीहै.

झीलमेंगायबहुईकैप्टनकीबॉडी

गोताखोरोंकेअनुभवकेअनुसारआमतौरपर3दिनसेअधिकपानीमेंकिसीकीभीबॉडीनहींरहतीहै,लेकिनइसबारकैप्टनकेमामलेमेंगोताखोरोंकीगणितभीखराबहोचुकीहैं.अबकैप्टनकीतलाशमेंपानीमेंकंप्रेसरसेप्रेशरबनायाजाएगाजिससेकिनीचेकापानीऊपरआएऔरऐसीपरिस्थितिमेंसंभावनाएंजताईजारहीहैकिप्रेशरबढ़नेसेकैप्टनकीबॉडीमिलसकतीहै.वहींझीलकादायराकाफीलंबाहोनेकेचलतेहालातऔरमुश्किलहोतेजारहेहैं.

कैमरोंकीमददसेकररहेतलाश

भारतीयसेनानेसुबहदिननिकलनेकेसाथजोधपुरकेतख्तसागरजलाशयमेंपांचदिनसेलापताकैप्टनअंकितगुप्ताकीखोजकाअभियानशुरूकिया.सेनानेआजबीसगोताखोरोंऔरविशेषज्ञोंकीटीमकोविशेषरूपसेजोधपुरबुलाया.यहटीमअपनेसाथपानीमेंदेखनेवालेकैमरेभीलेकरआईहै.इनकैमरोंकोपानीमेंडालनावमेंबैठविशेषज्ञपानीकेभीतरकापूरानजारादेखकैप्टनअंकितगुप्ताकोतलाशकररहेहैं.

गोताखोरोंनेछानमारापूरातख्तसागर

सेनाकेसाथसिविलडिफेंस,मालवीयबंधुऔरएसडीआरएफकीटीमभीसेनाकेकंधेसेकंधामिलाकरइसअभियानमेंजुटीहै.खोजमेंजुटेविशेषज्ञोंकेलिएकैप्टनअंकितकोखोजपानाबहुतबड़ीचुनौतीसाबितहोरहाहै.गोताखोरोंनेपूरातख्तसागरछानमारालेकिनअभीतकसफलतानहींमिली.देशकेसर्वोच्चगोताखोरोंकीलम्बी-चौड़ीफौजऔरसंसाधनभीकैप्टनकोढूंढ़नहींपारहेहैं.बतौरकमांडोकैप्टनकानहींमिलनासेनाकेसाथशहरवासियोंकेबीचआश्चर्यकाविषयभीबनाहुआहै.सभीकेजहनमेंबार-बारएकहीसवालउठरहाहैकिआखिरकैप्टनकहांचलेगए?

डूबतोंकोबचानेकाअभ्यासकररहेथे कमांडो

सेनाकी10पैरायूनिटकेटॉपचयनितकमांडोबीतेगुरुवारकोदोपहरकरीबबारहबजेडूबतोंकोबचानेकाअभ्यासकररहेथे.हैलिकॉप्टरनेरस्सीकीमददसेपांचकमांडोकोतख्तसागरझीलकेबीचों-बीचउताराथा.अभ्यासकेबादचारकमांडोरस्सीपकडकरहैलिकॉप्टरमेंपहुंचगए,लेकिनकैप्टनअंकितगुप्तागहरेपानीमेंलापताहोगए.

झीलकीझाडिय़ोंमेंफंसनेकाअंदेशा

कैप्टनऔरकमांडोकोपानीमेंडूबनेवालोंकोएयरलिफ्टकरनाथा.कैप्टनअंकितकोझीलसेबाहरनिकालनेकेलिएसेना,सिविलडिफेंस,एसडीआरएफऔरमालवीयबंधुकेगोताखोरलगातारलगेहुएहैं.पुलिसऔरगोताखोरोंकोअंदेशाहैकिसर्दीऔरठण्डेपानीकीवजहसेउन्हेंहार्टअटैकआगयाहोगा.फिरउनकेझीलमेंजमीकाईयाझाडिय़ोंमेंफंसनेकाअंदेशाहै.

बतादेकि61फीटभरावक्षमतावालेतख्तसागरमेंइससमय46फीटपानीभराहुआहै.इसकातलसमतलनहींहोकरपहाड़ीक्षेत्रहै.साथहीइसमेंबहुतअधिकझाड़ियांउगीहुईहै.ऐसेमेंमानाजारहाहैकिपानीकीगहराईमेंजानेकेदौरानअंकितइनकेबीचमेंकहींफंसगएहोंगे.इसेध्यानमेंरखगोताखोरझाडिय़ोंमेंउन्हेंतलाशकररहेहैं.

इसेभीपढ़ेंः

माल्याकोझटका,लंदनकोर्टनेकानूनीलड़ाईकेलिएमोटीरकमजारीकरनेसेकियाइनकार

बिहार:डिप्टीCMरेणुदेवीनेSSPकोलगायाफोन,पूछा-हमलोगोंकीऔरकितनीबदनामीकराएंगे?