जलस्तर तेजी से जा रहा है नीचे, हो जाएं सावधान

गढ़वा:दैनिकजागरणद्वाराचलाएजारहेअभियानकितना-कितनापानीमेंमंगलवारकोअधिवक्तासंघमेंजलसंवादकाआयोजनकियागया।इसमेंशामिलअधिवक्ताओंनेएकस्वरसेभविष्यकेलिएजलबचानेकासंकल्पलियातथाकहाकिदैनिकजागरणजलसंरक्षणकेप्रतिहमलोगोंकोजागरूककरनेकाकार्यकररहाहैजोकाबिलेतारीफहै।इन्होंनेकहाकिआजधरतीमेंसमातेजारहेजलस्तरसबकेलिएचिताकाविषयहै।इसेहरहालमेंऊपररखनाहोगा।अन्यथाआनेवालेदिनोंमेंहमेंपीनेकेलिएभीपानीनहींमिलेगा।जलसंरक्षणकेलिएपूरेजनमानसकोबढ़-चढ़करहिस्सालेनाचाहिएतभीभविष्यकेलिएजलकासंरक्षणहोसकताहै।हमेंआवश्यकताअनुसारहीधरतीसेपानीनिकालनाचाहिए।जितनापानीहमधरतीसेनिकालरहेहैंक्याउतनापानीहमधरतीकोदेरहेहैं।इसकेबारेमेंभीहमेंसोचनाचाहिए।स्नानकरनेकेबाद,वाहनधोनेकेबाद,घरोंसेनिकलनेवालेगंदेपानीकोहमसोख्ताबनाकरधरतीकोवापसकरसकतेहैं।ऐसाहमसभीकोकरनाचाहिए।तभीजलसंरक्षणहोसकताहै।अधिवक्ताकरुणानिधितिवारीनेकहाकिपहलेबरसातअच्छीहोतीथी।नदी-नाला,ताल-तलैया,आहर-पोखरमेंगर्मीकेदिनोंमेंभीभरपूरपानीरहताथा।नदीऔरतालाबमेंहमलोगस्नानकरतेथे।कपड़ासाफकियाजाताथा।परआजनदी-नाला,तालाब,आहर,पोखरयहांतककिकुआंमेंभीपानीगर्मीआतेहीसुखजारहाहै।ऐसीस्थितिमेंबरसातकापानीअधिकसेअधिकसंचयकियाजानाचाहिए।इन्होंनेकहाकिबरसातअच्छीहोइसकेलिएहमेंधरतीकोहराभरारखनाहोगा।इसकेलिएप्रतिवर्षअधिकसेअधिकवृक्षारोपणकरनाचाहिए।अच्छीबरसातहोगीतभीतालतलैयाभरेंगेऔरजलकासंजयहोगा।बरसातकापानीजलाशयोंतकपहुंचेइसकाव्यवस्थाकरनाचाहिए।अधिवक्तासंतोषकुमारपंडितनेकहाकिसभीघरोंमेंजलसंरक्षणकेलिएसोख्ताकाहोनाआवश्यकहै।बेकारमेंबननेवालापानीसोख्तामेंजाकरभूगर्भीयजलकोरिचार्जकरेगाऔरजलस्तरबनारहेगा।बरसातकापानीजहांसेबहताहैवहांगड्ढाखोदकरवबांधबनाकरजलकासंरक्षणकियाजासकताहै।इन्होंनेकहाकिहमेंकलकेलिएजलकासंरक्षणकरनाजरूरीहै।जलनहींतोकलनहीं।इसलिएजीवनकेलिएजलकाजतनकरनाजरूरीहै।हमेंबरसातकापानीजोयूंहीबहकरबेकारहोजाताहै।उसकासंरक्षणकरनाहोगा।तभीजलस्तरऊपरउठेगाऔरआनेवालेदिनोंमेंजलसंकटकासामनानहींकरनापड़ेगा।अधिवक्ताविवेककुमारतिवारीनेकहाकिकहागयाहैकिजलहैतोजीवनहै।जलनहींतोकलनहीं।इसलिएहमेंधरतीपरजीवनरहेइसकेलिएजलकाजतनकरनाआवश्यकहै।आवश्यकताकेअनुरूपहीहमजलकाउपयोगकरें।बेकारमेंधरतीसेनिकालकरपानीकोनबहाएं।अन्यथाआनेवालेदिनोंमेंहमेंजलसंकटकासामनाकरनापड़सकताहै।सोमनाथविश्वकर्मानेकहाकिदैनिकजागरणकेइसजलसंरक्षणअभियानसेप्रेरणापाकरमैंआजसेहीआनेवालेकलकेलिएजलकासंरक्षणकरनाप्रारंभकरूंगा।जितनाअधिकजलकासंरक्षणकरेंगेभविष्यकेलिएउतनाहीसुखदरहेगा।इसकेलिएपूरेजनमानसकोआगेआकरअधिकसेअधिकमात्रामेंजलकासंचयकरनाहोगा।