जल संरक्षण को जनआंदोलन बनाने में जुटे संदीप

राजेशशर्मा,चरखीदादरी:

रहिमनपानीराखिए,बिनपानीसबसून,पानीगएनाऊबरे,मोती,मानस,चून।कविरहीमकीइनपंक्तियोंमेंपानीकेमहत्वकोउजागरकियागयाहै,लेकिनजलसंरक्षणकेतमामअभियानलोगोंतकरहीमकासंदेशनहींपहुंचापारहेहैं।ऐसेमेंदादरीनगरमेंयुवाजागृतिसंगठनआमजनतकपानीकीबर्बादीरोकनेकेलिएमुहिमचलाएहुएहै।संगठनसामाजिककार्यकर्ताओंकेसाथमिलकरनाटककेमाध्यमसेजलसंरक्षणकेलिएसंदेशदेरहाहै।संगठनकेप्रधानसंदीपफौगाटनेबतायाकिवर्तमानमेंपेयजलसंकटकोदेखतेहुएउन्होंनेइसमुहिमपरकार्यशुरूकरनेकीमनमेंठानी।अपनेयुवासाथियोंकेसहयोगसेगांव-गांव,शहर-शहरजलसंरक्षणकेप्रतिलोगोंकोजागरूककरनेकेलिएजनचेतनाकार्यक्रमोंकीशुरूआतकी।हालांकिवेलंबेसमयसेजलसंरक्षणकीमुहिमचलाएहुएहैं।इसकेलिएसरकारी,गैरसरकारीस्कूलोंकेसाथहीचौपालोंमेंपहुंचकरलोगोंकोजलबर्बादीरोकनेकासंदेशदियाजारहाहै।

जलसंरक्षणकीकररहेअपील

जलसंरक्षणकेलिएपिछलेकाफीसमयसेदादरीक्षेत्रमेंप्रयासरतयुवाजागृतिसंगठनकेप्रधानसंदीपफौगाटवउनकीटीमशहरकेवार्ड,गांव-गांवजाकरलोगोंकोबैनर,स्लोगनलिखेपोस्टरकेसाथजलसंरक्षणकेप्रतिप्रेरितकररहीहै।संदीपफौगाटवर्तमानजलसंकटसेभीअवगतकरारहेहै।संदीपफौगाटकाकहनाहैकिजलकोव्यर्थबहनेसेरोकनेकेलिएजनस्वास्थ्यविभागकेसाथहीआमजनकीभीजिम्मेदारीबनतीहै।सार्वजनिकनलोंपरटोटियांलगानीचाहिए,कहींलीकेजहोतोतुरंतविभागकेकर्मचारियोंकोसूचितकरनाचाहिए।संगठनकेमाध्यमसेजलहैतोकलहैजनसंदेशएकविशेषजनसंपर्कअभियानकेतहतलोगोंतकपहुंचायाजारहाहै।साथहीलोगोंकोपुरानेतालाबोंकेजीर्णोद्धारकेसाथवर्षाजलसंचयकीविधियांबताईजातीहै।प्रधानसंदीपफौगाटवसंगठनकेअन्यसदस्यस्कूलों,कॉलेजोंकेअलावागांवकीचौपालों,चौराहोंपरनुक्कड़सभा,नाटकमंचनइत्यादिसेभीजलसंरक्षणकीदिशामेंसराहनीयकार्यकररहेहैं।जलबर्बादीकेकारणोंवसंरक्षणकेउपायोंसेलोगोंकोअवगतकरानेकेलिएअपनेस्तरपरपोस्टरछपवाकरशहरकेबाजारों,सार्वजनिकस्थानोंपरवितरणकरनाभीसंगठनकेमुख्यकार्योंमेंशामिलहै।

जलबचाएं,कलबचाएं:संदीप

जलबचाएं,आनेवालाकलबचाएंजैसेगंभीरविषयकोलेकरयुवाजागृतिसंगठनकेतत्वावधानमेंनगरकेयुवाओंनेविभिन्नजगहोंपरजागरूकताअभियानचलारहेहैं।संदीपफौगाटकाकहनाहैकिआजहमारेदेशसहितविश्वकेकईअन्यराष्ट्रपेयजलकिल्लतसेजूझरहेहै।भारतकेकईराज्योंमेंभूजलस्तरबहुतनीचेचलागयाहै।पानीकीसमस्यासेनिपटनेकेलिएनकेवलसरकारबल्किसभीकोजागरूकहोनाहोगा।उन्होंनेकहाकिहमकईबारअपनेघरोंकीटोटियांखुलीछोड़देतेहै,इसकेअतिरिक्तयहीलापरवाहीसार्वजनिकस्थानोंपरलगेनलोंपरदेखीजासकतीहै।जिसकेकारणरोजानाहजारोंलाखोंलीटरपानीव्यर्थहोताहै।