जींद में जलभराव को लेकर तहसील कार्यालय पहुंचे हथवाला के ग्रामीण

जुलाना:बरसातकेकारणहुएजलभरावकोलेकरहथवालागांवकेदर्जनोंकिसानतहसीलकार्यालयपहुंचे।किसानोंनेप्रशासनसेफसलोंऔरगांवसेपानीनिकासीकीमांगकी।हथवालागांवनिवासीकिसानजयबीर,राजबीर,बागा,दिलबाग,विनोद,जगबीर,जगदीश,बिजेंद्र,हरपाल,शमशेर,मौजीराम,रमेशवप्रवीननेकहाकिगांवमेंअधिकबरसातहोनेकेकारणजलभरावहोगयाहै।करीबदोहजारएकड़फसलपानीमेंडूबगईहै।खेतोंकेसाथ-साथगांवमेंभीपानीभरगयाहै।ग्रामीणोंनेकहाकिअधिकपानीसेफसलखराबहोगईहैं।जोभीफसलबचीहैअगरजल्दपानीकीनिकासीनहींहुईतोवहभीखराबहोजाएगी।हजारोंरुपयेखर्चकरउन्होंनेफसलकीबुआईकीहै।किसानोंनेखराबफसलकामुआवजादिलानेवपानीकीनिकासीकरानेकीमांगप्रशासनसेकीहै।संसू

निडानीमेंबारिशमेंगिरामकान,आर्थिकमददकीलगाईगुहार

जींद:पिछलेतीनदिनोंसेहोरहीबारिशकेबीचबुधवाररातगांवनिडानीकेसतबीरकामकानगिरगया।गनीमतरहीकिजिससमयमकानकीछतगिरी,वहांकोईमौजूदनहींथा।ग्रामीणोंकेअनुसारसतबीरपुत्ररणसिंहगांवमेंबनेघरमेंअकेलाहीरहताथा।उसकेमाता-पिताकीमौतहोचुकीहै।बुधवाररातकोहुईबारिशकेकारणउसकामकानगिरगया।सतबीरनेबतायाकिउसकेपासकृषियोग्यभीकोईजमीननहींहै।वहमजदूरीकरअपनापेटपालरहाहै।उसकीआर्थिकस्थितिबहुतकमजोरहै,इसलिएवहमकानकोदोबारासेबनानेमेंपूरीतरहसेअसमर्थहै।उसनेप्रशासनसेगुहारलगाईकिउसकीआर्थिकमददकीजाए।